चाँद धरती से कितना दूर है? | Chand Dharti Se Kitna Dur Hai (Moon Earth Distance)

चाँद पर पहुंचना अब मात्र कल्पना नहीं रह गयी है, चांद को देखने और समझने का मिशन 1959 में शुरू हुआ था और अब मनुष्य की पहुँच चाँद तक भी हो चुकी है। चाँद की धरती से दूरी का सटीक आकलन तो अभी तक संभव नहीं है; लेकिन अंतरिक्ष वैज्ञानिकों एवं शोधकर्ताओं के अनुसार चाँद की धरती से अनुमानित दूरी का आंकलन किया जा चुका है। इस लेख में हम आपको चाँद से धरती की अनुमानित दूरी के साथ साथ चाँद के बारे में उपयोगी जानकारी देंगे। आप चाहें तो गूगल से voice command के जरिये पूछ सकते हैं: Chand Dharti Se Kitna Dur Hai Google?

चाँद धरती से कितना दूर है? (Chand Dharti Se Kitna Dur Hai)

अंतरिक्ष वैज्ञानिकों एवं शोधकर्ताओं के अनुसार चाँद धरती से लगभग 384,403 किलोमीटर (238,857 मील) की दूरी पर स्थित है। चाँद और धरती के बीच की दूरी सदैव समान नहीं रहती है अपितु यह बदलती रहती है। क्योंकि चंद्रमा पृथ्वी के चारों ओर घूमता है, जिससे दिन और रात होते हैं, चंद्रमा गति में है, जिसके कारण पृथ्वी से इसकी दूरी कभी-कभी कम या ज्यादा होती रहती है। चाँद सौरमंडल मे 5वां सबसे बड़ा प्राकृतिक उपग्रह है। चन्द्रमा पृथ्वी का एकमात्र प्राकृतिक उपग्रह है।

चाँद का जन्म (Birth of Moon)

वैज्ञानिकों के तथ्य के अनुसार पृथ्वी के बनने के कुछ करोड़ों साल बाद चाँद का जन्म हुआ। वैज्ञानिकों के अनुसार आज से 4.50 अरब साल पहले चाँद अस्तित्व मे आया था, जो कि पृथ्वी और थीया (मार्स के आकार का तत्व) के बीच हुए भीषण टकराव के बाद बचे हुए अवशेषों के मलबे से बना था। चंद्रमा के होने से पृथ्वी रुकी हुई है। इसी के कारण से पृथ्वी पर सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण दोनों लगता है।

चाँद का आकार (Size of Moon)

चाँद का आकार क्रिकेट बॉल की तरह गोल है। और यह स्वतः नहीं चमकता बल्कि सूर्य के प्रकाश से प्रकाशित होता है। चंद्रमा का वह भाग जो सूर्य के सामने होता है वह चमकता हुआ दिखाई देता है और बाकी भाग में अंधेरा होता है। इसी कारणवश चंद्रमा का आकार घटता बढ़ता दिखाई देता है।

परिधि10,921 किमी
तल-क्षेत्रफल3.793 किमी2 
आयतन2.1958 किमी3 
द्रव्यमान7.3477 किलोग्राम

चाँद का पृथ्वी का चक्कर लगाना

चाँद को पृथ्वी का पूरा एक चक्कर लगाने मे 27 दिन 7 घंटे 43 मिनट 11.5 सेकंड लगता है। चाँद को अपने अक्षीय धुरी पर पूरा एक चक्कर लगाने मे 29 दिन 12 घंटे 44 मिनट 2.9 सेकंड का समय लगता है।

चाँद पर पहला कदम

चाँद पर पहला कदम नील आर्मस्ट्रांग ने 21 जुलाई, 1969 में रखा था और चाँद पर जाने का यह मिशन अपोलो 11 अंतरिक्ष यान द्वारा किया गया था। इसके बाद अभी तक कईं लोग चन्द्रमा पर जा चुके हैं।

चाँद का तापमान

जिस तरह पृथ्वी पर तापमान अलग अलग जगहों पर अलग अलग रहता है, ठीक उसी प्रकार चाँद की सतह पर भी अलग-अलग जगहों का तापमान दिन और रात में अलग-अलग होता है। चाँद पर दिन के समय का अत्यधिक तापमान 127 डिग्री सेल्सियस तथा रात मे शून्य डिग्री से –193 डिग्री सेल्सियस हो जाता है। कुछ गहरे क्रेटर्स में तो तापमान हमेशा माइनस 240 तक कम रहता है।

चाँद का धरती पर होने वाला असर

चाँद की गुरुत्वाकर्षण शक्ति का पृथ्वी पर काफी असर होता है, इस वजह से पृथ्वी की अपनी धुरी पर घूमने की गति पर असर होता है। वहीं पृथ्वी के गुरुत्व के कारण चांद की कक्षा पर भी असर होता है। चांद के गुरुत्वाकर्षण के कारण एक प्रक्रिया होती है टाइडल फ्रिक्शन, इसका सीधा असर ज्वार-भाटा जैसी गतिविधियों में देखने को मिलता है। इसका एक असर यह भी है कि चाँद पृथ्वी से हर साल 1.5 इंच दूर जा रहा है।

चाँद पर इंसान का वजन

वैज्ञानिक अध्ययन में यह सिद्ध हो चुका है कि चंद्रमा की गुरुत्वाकर्षण शक्ति पृथ्वी से कम होती है। सामान्य तौर पर चाँद पर किसी व्यक्ति का वजन 16.5 फीसद कम होता है।

चाँद की कलाओं के नाम

चाँद निम्नलिखित कलाओं से गुजरता है:

  • अमावस्या
  • वर्धमान बढ़ता चांद
  • अर्ध चंद्र
  • कुबड़ा बढ़ता चांद
  • पूर्णिमा
  • कुबड़ा घटता चांद
  • अर्ध चंद्र
  • वर्धमान घटता चांद
  • अमावस्या

FAQs

  • पृथ्वी से चंद्रमा तक पहुंचने में कितना समय लगता है?

    पृथ्वी से चाँद तक पहुँचने में लगने वाला समय विमान की गति पर निर्भर करता है, जिसके साथ हम यात्रा कर रहे हैं। ईएसए स्मार्ट -1, पृथ्वी से चंद्रमा पर सबसे कम गति वाला विमान, 1 साल, 1 महीने और 2 सप्ताह के बाद चंद्रमा पर पहुंचा जबकि अब तक के सबसे तेज विमान नासा न्यू होराइजन्स ने लगभग 8 घंटे 35 मिनट में यह दूरी तय कर ली।

  • चाँद का नक्शा पहली बार किसने बनाया?

    चाँद का नक्शा सबसे पहले ब्रिटिश खगोल वैज्ञानिक थॉमस हैरियट द्वारा बनाया गया।

  • क्या चाँद पर पानी उपलब्ध है?

    चाँद का वह भाग जो हमेशा छाया में रहता है, वहां पर बर्फ के रूप में पानी भी उपलब्ध है।

  • चाँद और सूर्य में आकार में कौन बड़ा है?

    सूर्य चाँद से करीब 400 गुना बड़ा है। लेकिन पृथ्वी से दोनों का आकार लगभग सामान है। इसका कारण है कि सूर्य की तुलना में चाँद पृथ्वी के ज्यादा करीब है।

  • चांद पर भारत कब पहुंचा?

    भारतीय राकेश शर्मा ने 3 अप्रैल 1984 को चांद पर कदम रखा।

यह भी देखें 👇👇