Categories: Uttar Pradesh

उत्तर प्रदेश का इतिहास – UP History in Hindi

UP History in Hindi (उत्तर प्रदेश का इतिहास )


UP History in Hindi (Uttar Pradesh) – यहां पर उत्तर प्रदेश के इतिहास से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारियां दी गयी हैं जो प्रतियोगी परीक्षा की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण हैं। यहाँ आप उत्तर प्रदेश के इतिहास की जानकारियों का अवलोकन कर सकते हैं।


उत्तर प्रदेश को भारत का सांस्कृतिक गढ़ माना जाता है। उत्तर प्रदेश में समृद्ध ऐतिहासिक विरासत है और यह बताना गलत नहीं होगा कि उत्तर प्रदेश का इतिहास वर्तमान उत्तर प्रदेश की जीवन शैली को परिभाषित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। उत्तर प्रदेश का इतिहास बहुत पुराना और आकर्षक है और इसका भारतीय संस्कृति और सभ्यता पर बहुत प्रभाव पड़ा।

उत्तर प्रदेश के इतिहास को उस काल में खोजा जा सकता है जब आर्यों ने अपना आगमन किया और जिसे वे “मध्यदेश” या मध्य देश कहते थे, में बस्तियाँ स्थापित करना शुरू किया। उत्तर प्रदेश में समय के साथ-साथ कई राज्यों पर शासन किया गया। कोशों का नियम विशेष महत्व है। राजा दशरथ और उनके उत्तराधिकारी राम राज्य के शानदार शासक थे।

1 शताब्दी ईसा पूर्व के मध्य में यह कुछ समय था जब उत्तर प्रदेश ने भगवान बुद्ध के आगमन और बौद्ध धर्म के प्रसार को देखा। भगवान बुद्ध ने सारनाथ में अपना पहला धर्मोपदेश दिया, उस समय मगध शासन था। बाद में सत्ता को नंदा राजवंश और फिर मौर्यों में स्थानांतरित कर दिया गया। हालाँकि यह शहर हर्षवर्धन के शासनकाल के दौरान अपने गौरव के शिखर तक पहुँच गया था।

उत्तर प्रदेश की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि का मुस्लिम शासन के आगमन के साथ बहुत कुछ है। वह काल राजपूतों की अधीनता का गवाह था, जिसकी सत्ता राजस्थान के कुछ इलाकों तक सीमित थी। उत्तर प्रदेश मुगल शासन के दौरान और विशेष रूप से सम्राट अकबर के शासन के दौरान समृद्धि के चरम पर पहुंच गया। यह मुगल शासन के दौरान ही उत्तर प्रदेश ने अपने कुछ सबसे शानदार स्मारकों के निर्माण को देखा था जिनके नाम उत्तर प्रदेश के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में अंकित किए गए हैं।

समय के साथ, उत्तर प्रदेश ने मुगल शासन की पतनशीलता और अंग्रेजों के आगमन को देखा। मुगल प्रभाव दोआब क्षेत्र तक ही सीमित था। 1857 के सिपाही विद्रोह में उत्तर प्रदेश की भी मुख्य भूमिका थी।


  • ईसापूर्व छटी और चौथी सदी के दौरान गौतम बुद्ध ने भी वाराणसी के सारनाथ में पहली बार धर्मोपदेश किया था।
  • गौतम बुद्ध ने बौध्द धर्म की स्थापना की थी। बुद्ध द्वारा कुशीनगर पर परिनिर्वाण लिया गया।
  • 12 वी सदी में मुज़ल्दीन मुहम्मद इब्न सैम (मुहम्मद घुरी) ने उत्तर प्रदेश के गहड़वालों को पराजित किया।
  • करीब 600 सालों तक उत्तर प्रदेश में केवल मुस्लीम वंश के लोगो का ही शासन रहा।
  • सन 1526 में बाबर ने दिल्ली के सुलतान इब्राहीम लोधी को हराकर दिल्ली में मुस्लीम वंश के शासन की स्थापना की।
  • उत्तर प्रदेश में 200 सालों से अधिक समय तक मुगलों ने शासन किया।
  • अकबर बादशाह ने आगरा के नजदीक में अपनी नयी राजधानी फतेहपुर सिकरी की स्थापना की थी।
  • अकबर के पोते शाहजहाँ ने पत्नी की याद में आगरा में दुनिया की सबसे खुबसूरत ईमारत ताज महल बनाया था।
  • 18 वी सदी और 19 वी सदी के मध्य के 75 साल के समय में ईस्ट इंडिया कम्पनी ने उत्तर प्रदेश का पूरा हिस्सा कब्जे में कर लिया था।
  • सन 1950 में भारत का नया संविधान बनने के बाद संयुक्त प्रान्त का नाम बदलकर उत्तर प्रदेश कर दिया गया।
admin

Recent Posts

एकादशी व्रत 2021 तिथियां – Ekadashi 2021 Date – एकादशी व्रत का महत्व

एकादशी का हिंदू धर्म में एक विशेष महत्व है। हिंदू धर्म में व्रत एवं उपवास को धार्मिक दृष्टि से एक… Read More

51 years ago

मोक्षदा एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा

मोक्षदा एकादशी मार्गशीर्ष महीने के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मोक्षदा एकादशी कहा जाता है। इस एकादशी को वैकुण्ठ एकादशी… Read More

51 years ago

उत्पन्ना एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा

उत्पन्ना एकादशी मार्गशीर्ष मास के शुक्लपक्ष की एकादशी को उत्पन्ना एकादशी कहते हैं। इस एकादशी को मोक्षदा एकादशी भी कहा… Read More

51 years ago

देवउठनी एकादशी या देवुत्थान एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा

देवउठनी एकादशी या देवुत्थान एकादशी कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवउठनी एकादशी या देवुत्थान एकादशी कहा जाता… Read More

51 years ago

रमा एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा

रमा एकादशी कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को रमा एकादशी कहा जाता है। इस व्रत को करने से… Read More

51 years ago

पापांकुशा एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा

पापांकुशा एकादशी आश्विन शुक्ल पक्ष की एकादशी को पापांकुशा एकादशी कहते हैं। जैसा कि नाम से ही पता चलता है… Read More

51 years ago

For any queries mail us at admin@meragk.in