मध्य प्रदेश राज्य के प्रतीक चिन्ह | Madhya Pradesh State Symbols

Madhya Pradesh State Symbols- मध्य प्रदेश राज्य के प्रतीक चिन्ह निम्नलिखित हैं:

मध्य प्रदेश का राज्य चिन्ह

चिन्ह में सबसे बाहर चौबीस स्तूप अंकित हैं। इसके बाद एक वृत्त है, जो तरक्की और विकास की असीम संभावनाओं का द्योतक है। इस वृत्त के भीतर मध्य प्रदेश शासन और सत्यमेव जयते उत्कीर्ण है साथ ही राज्य की प्रमुख फसलें गेंहूँ और धान की बालियां भी अंकित हैं। केंद्रीय वृत्त में अशोक स्तम्भ की सिंह आकृति और राज्य वृक्ष बरगद को दर्शाया गया है।

दूधराज

मध्य प्रदेश का राजकीय पक्षी: दूधराज या शाह बुलबुल (पैराडइज फ्लाईकेचर)

इसे अन्य नाम टिटैनी, माहारैनी भी कहा जाता है| यह सुंदर पक्षी है जिसकी पहचान सफेद और काली कलंगी और लहराते सफेद पूछ से है| यह अपनी निश्चित आयु होने पर शरीर का रंग बदल लेता है|

बारहसिंघा

मध्य प्रदेश का राजकीय पशु: बारहसिंघा (ब्रेडरी जाति)

बारहसिंगा को दलदल का मृग (Rucervus duvaucelii) के नाम से भी जाना जाता है,जो हिरण की एक जाति है, जिसकी दुर्लभ प्रजाति के एकमात्र नेशनल पार्क कान्हा किसली में पाया जाता है|

लिली

मध्य प्रदेश का राजकीय पुष्प: लिली

सफेद लिली, लिलीएसी फेमिली का एक मेंबर है,जो एक प्रकार की साखीय पौधे हैं जो आकृति और सुंदरता के कारण विश्व विख्यात है| जिसका तना काफी ऊंचा होता है|

बरगद

मध्य प्रदेश का राजकीय वृक्ष: बरगद

यह मोरेसी कुल से सम्बंधित है जिसका वैज्ञानिक नाम ‘फ़ाइकस वेनगैलेंसिस’ है | जो हिंदू का एक पवित्र, पूजनीय और औषधि के महत्व का एक महत्वपूर्ण है|

महाशीर

मध्य प्रदेश की राजकीय मछली: महाशीर

महाशीर मछली जो प्रदूषण रोकने और पानी को स्वच्छ रखने में मदद करती है जिसका वैज्ञानिक नाम टोर-टोर है।

मलखम्ब

मध्य प्रदेश का राजकीय खेल: मलखम्ब

मलखंब एक प्राचीन खेल विधा है जिसमें एक मैदान के बीचो-बीच खंबा गाड़कर प्रतियोगी को खंबे के सहारे करतब दिखाना पड़ता है। खेल से किसी खिलाड़ी के पूरे शरीर का व्यायाम होता है।

माच

मध्य प्रदेश का राज्य नाट्य: माच

इसकी प्रस्तुति एक ऊँचे और खुले मंच के रूप में की जाती है। ‘ढोलक’ तथा ‘सारंगी’ के महत्वपूर्ण वाद्य है। प्रदेश में इसका सर्वाधिक प्रचार क्षेत्र मालवा अंचल के अंतर्गत आता है।

राई

मध्य प्रदेश का राज्य नृत्य: राई

यह बुंदेलखंड का मुख्य नृत्य है जो ग्रामीण क्षेत्र में बच्चों के जन्म, विवाह के अवसरों पर उचित कार्य की पूर्ति होने पर राई का आयोजन किया जाता है। इसमें एक नर्तकी होती है जिसे ‘बेड़नी’ कहाँ जाता है।

सोयाबीन

मध्य प्रदेश की राज्य फसल: सोयाबीन

सोयाबीन प्रमुख तिलहनी फसल है। भारत के लगभग 80% सोयाबीन का उत्पादन अकेले इसी राज्य में होता है। सर्वाधिक बड़ा उत्पादक राज्य होने के कारण ही इसे ‘सोया स्टेट’ के नाम से भी जाना जाता है।

यह भी देखें:

]]>