लॉन बॉल्स खेल के नियम – Lawn Bowls rules in Hindi, CWG 2022 India

[Lawn Bowls rules in Hindi, Lawn Bowls CWG 2022 India, Lawn Bowls kya hai in hindi, lawn bowls kaise khelte hain, Lawn Bowls History in Commonwealth Games]

Lawn Bowls rules in Hindi, CWG 2022 India – लॉन बॉल्स के खेल में भारत ने इतिहास रचते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया है। कॉमनवेल्थ खेलों के इतिहास में अभी तक भारत के द्वारा लॉन बॉल्स में पदक नहीं जीता गया था। इस बार के CWG 2022 में लवली चौबे (लीड), पिंकी (सेकेंड), नयनमोनी सेकिया (थर्ड) और रूपा रानी टिर्की (स्किप) की भारतीय महिला फोर्स टीम ने भारत को स्वर्ण पदक दिलाया है। आइये जानते हैं लॉन बॉल्स क्या होता है (lawn bowls kya hai in hindi), लॉन बॉल्स कैसे खेलते हैं (lawn bowls kaise khelte hain), और लॉन बॉल्स खेल के नियम (Lawn Bowls rules in Hindi) क्या होते हैं?

लॉन बॉल्स क्या होता है (Lawn Bowls kya hai in hindi)

लॉन बॉल्स को मैदान पर खेला जाता है, इस मैदान को बोलिंग ग्रीन कहा जाता है जहां पर कई रिंक बने होते हैं। लॉन बॉल्स का खेल सिंगल्स, पेयर्स, ट्रिपल और फोर्स में खेला जाता है। इस खेल में एक टार्गेट होता है जो गेंद की तरह होता है जिसे जैक कहते हैं।

लॉन बॉल्स कैसे खेलते हैं (lawn bowls kaise khelte hain)

लॉन बॉल्स में विरोधी टीमों के बीच टॉस होता है और टॉस जीतने वाली टीम का खिलाड़ी जैक को रोल कर इसे दूसरे छोर के पास रोल करता है और यही जैक का टार्गेट स्थान हो जाता है। घास के मैदान पर उपस्थित गेंदों को जैक के समीप ले जाते हुए निशाना लगाया जाता है। जिस टीम की गेंद जैक के ज्यादा पास होती है उसे राउंड में उतने अंक मिलते हैं।

लॉन बॉल्स खेल के नियम (Lawn Bowls rules in Hindi)

लॉन बॉल्स खेल के नियम (Lawn Bowls rules in Hindi) इस प्रकार हैं:

  • लॉन बॉल्स खेल के नियम (Lawn Bowls rules in Hindi) के अनुसार शुरुआत में टॉस होता है।
  • इसके बाद जैक (बॉल) को रखा जाता है।
  • शुरुआत में घास के मैदान पर कुछ गेंदे रखी जाती हैं।
  • खिलाड़ियों को बारी-बारी से एक निश्चित दूरी से अपनी गेंद को एक बॉल (जैक) के पास पहुंचाया जाता है।
  • दो प्रतिस्पर्धियों (सिंगल्स, जोड़ी या फिर टीम) के बीच मैदान को दो छोर में बांट दिया जाता है।
  • जैक के चारों ओर को चार कैटेगरी सिंगल्स, पेयर्स, ट्रिपल्स और फोर्स में विभाजित किया जाता है।
  • सिंगल्स प्रतियोगिता में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को शुरुआत में 4 मौके मिलते हैं।
  • जिस टीम की गेंद जैक के ज्यादा समीप होती है उसके उतने अंक हो जाते हैं।
  • सबसे ज्यादा अंक अर्जित करने वाली टीम को विजयी घोषित कर लिया जाता है।

कॉमनवेल्थ गेम्स में लॉन बॉल का इतिहास (Lawn Bowls History in Commonwealth Games)

कॉमनवेल्थ गेम्स में लॉन बॉल्स की शुरुआत 1930 में हुई थी। लॉन बॉल्स में सबसे ज्यादा पदक जीतने का रिकॉर्ड इंग्लैंडके नाम है जिसने 51 बार पदक जीता है। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने 50 बार और साउथ अफ्रीका ने 44 बार पदक अपने नाम किया है। भारत के द्वारा भी लॉन बॉल्स में लगातार अच्छा प्रदर्शन किया जाता रहा है। एशियन और एशियन पैसिफिक टूर्नामेंट में भी भारत लॉन बॉल्स में चैंपियन रह चुका है। हांलाकि कॉमनवेल्थ गेम्स में लॉन बॉल्स में अभी तक भारत के नाम पदक का सूखा था लेकिन कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत ने गोल्ड मैडल जीतकर इतिहास रच दिया है और पदक का सूखा ख़त्म किया है।

लॉन बॉल्स में गेंद कैसी होती है?

लॉन बॉल्स में प्रयोग होने वाली गेंद रबड़, लकड़ी या प्लास्टिक रोल से बानी होती है। गेंद का वजन 1.59 किलोग्राम तक होता है। गेंद पूरी तरह से गोलाकार नहीं होती है और उसके दो साइड होते हैं, जिसे बायस और नॉन बायस कहते हैं। गेंद के दोनों साइड में से एक तरफ का वजन थोड़ा अधिक होता है जिसकी वजह से वह रोल होने के बाद अंदर की तरफ जाती है।

Lawn Bowls rules in Hindi FAQs

लॉन बॉल्स क्या होता है?

लॉन बॉल्स बोलिंग ग्रीन पर खेला जाने वाला खेल है जिसको सिंगल्स, पेयर्स, ट्रिपल और फोर्स में खेला जाता है। खिलाड़ियों को बारी-बारी से एक निश्चित दूरी से अपनी गेंद को एक बॉल (जैक) के पास पहुंचाया जाता है। जिस टीम की गेंद जैक के ज्यादा समीप होती है उसके उतने अंक हो जाते हैं।

कॉमनवेल्थ गेम्स में लॉन बॉल्स में भारत ने पहली बार पदक कब जीता?

2022 में स्वर्ण पदक

कॉमनवेल्थ गेम्स में लॉन बॉल्स में स्वर्ण पदक किसने जीता?

लवली चौबे (लीड), पिंकी (सेकेंड), नयनमोनी सेकिया (थर्ड), रूपा रानी टिर्की (स्किप)

यह भी देखें