NFT (नॉन फंज़िबल टोकन) क्या है? NFT की शुरुआत कब हुई?

हम सभी देख रहे है कि दुनिया बहुत तेज़ी से डिजिटल वर्ल्ड मे कदम रख रही है। आये दिन कोई न कोई नई डिजिटल करेंसी लांच होती है। आप मे से बहुत लोग क्रिप्टो करेंसी के बारे मे तो जानते ही होंगे, उसी प्रकार वर्तमान समय मे NFT काफी चर्चा मे है। यह ग्लोबल स्तर पर काफी तेज़ी से आगे बढ़ रहा है इसका सीधा अर्थ है कि यह सिर्फ भारत मे ही नहीं बल्कि दूसरे देशो मे भी अपनी पकड़ मजबूत बना रहा है।

आपको इन्टरनेट सोर्स से Beeple के द्वारा बेचीं गयी NFT के बारे मे जानकारी मिली होगी कि उन्होंने डिजिटल आर्ट को NFT के रूप मे बेचकर $69 मिलियन कमाए है जो अब तक दुनिया की सबसे महंगी बेचीं गयी NFT है।

आज कल बहुत से लोग डिजिटल आर्ट के जरिये अच्छा खासा पैसा कम रहे है लेकिन जिन्हें इस बारे मे जानकारी नहीं है वो सोच मे पड़ गए होंगे कि आखिर NFT क्या है और कैसे इससे पैसा कमाया जा सकता है।

आज के लेख मे हम आपको NFT के बारे मे विस्तार से सभी जानकारियां देंगे कि NFT क्या है? NFT किस प्रकार काम करती है और NFT को किस प्रकार बेचा जा सकता है? इसके साथ ही  NFT से जुडी कुछ अन्य जानकरी भी आपको दी जाएगी।

NFT क्या है? (What is NFT)

NFT एक प्रकार के क्रिप्टो टोकन जैसा ही है, जो यूनिक टोकन या डिजिटल एसेट्स के रूप मे होते है। यह यूनिक चीजों को दर्शाता है जैसे कोई आर्ट, खेल, विडियो, तस्वीर आदि। अगर किसी व्यक्ति के पास NFT है तो इसका मतलब है कि उसके पास कोई यूनिक आर्ट वर्क है, जो पूरी दुनिया मे किसी दूसरे के पास नहीं है।

NFT बिटकॉइन या एथेरियम के जैसा ही है जिसका प्रयोग सिर्फ डिजिटली ही किया जा सकता है और कोई भी चीज़ डिजिटल रूप मे ही प्राप्त होती है यानि कि कोई भी वस्तु आपके पास नहीं आती और आप इसे स्पर्श करके महसूस नहीं कर सकते हो। यह एक डिजिटल ऑब्जेक्ट है जिस प्रकार क्रिप्टो करेंसी ब्लॉक चैन पर आधारित है उसी प्रकार यह भी ब्लॉक चैन तकनीक पर आधारित है।

जब कोई NFT को खरीदता है तो वह अकेला उस डिजिटल आर्ट का मालिक होता है, अन्य कोई उस आर्ट को डाउनलोड नहीं कर सकता क्योकि NFT के मालिक की सभी जानकारी ब्लॉक चैन मे स्टोर की जाती है। यह ब्लॉक चैन पब्लिक होती है जिससे NFT का असली मालिक कौन है उसका पता लगाया जा सकता है।

NFT की फुल फॉर्म (NFT Full Form in Hindi)

NFT की हिंदी मे फुल फॉर्म “नॉन फंज़िबल टोकन” है जिसे English मे Non-Fungible Token कहते है।

NFT की शुरुआत कब हुई?

NFT की शुरुआत वर्ष 2014 मे अनिल दास जो सॉफ्टवेर उघमी और केविन मैककाल, कलाकार ने की थी। इसके बाद NFT पॉपुलर तब हुआ जब ट्विटर के CEO जेक डोर्सी ने अपना पहला ट्विट 21 करोड़ रुपए से अधिक मे बेचा। इसके बाद “Everydays: The First 5000 Days” नाम का आर्टवर्क 69.3 मिलियन डॉलर यानि 500 करोड़ रुपए मे बेचा गया।

हाल ही मे Benyamine Ahmed नाम के 12 वर्ष के बच्चे ने अपनी स्कूल की छुट्टियों के समय एक डिजिटल आर्ट वर्क बनाया जिसे Weired Whales नाम दिया गया जो 2 करोड़ 93 लाख रुपए मे बिका।

NFT किस प्रकार काम करता है?

NFT ब्लॉक चैन तकनीक पर काम करता है, जो एथेरियम ब्लॉक चैन है। NFT का ब्लॉक चैन के बिना कोई अस्तित्व नहीं है। ब्लॉक चैन तकनीक पर काम करने के कारण यह बहुत सुरक्षित है क्योकि इसके जरिये किसी भी चीज़ को डिजिटल बनाकर उसका रिकॉर्ड रखा जाता है।

यह डिजिटल टोकन के रूप मे काम करता है इसका मतलब है कि जब किसी भी तस्वीर, गाने, विडियो को NFT के रूप मे बनाया जाता है तो उसका प्रयोग केवल वही व्यक्ति कर सकता है जिसके पास उस चीज़ का डिजिटल सर्टिफिकेट होगा। डिजिटल सर्टिफिकेट के रूप मे उस चीज़ को ब्लॉक चैन मे स्टोर कर दिया जाता है और इस सर्टिफिकेट को डिजिटली खरीदा और बेचा जा सकता है।

NFT कैसे बनाकर बेचे?  

अगर आपकी रूचि NFT मे है और आप NFT बना कर बेचना चाहते है तो उसके लिए आपके पास कोई खास स्किल होनी चाहिये क्योकि अगर आप इन्टरनेट से वीडियोस, तस्वीर या अन्य कोई चीज़ उठाकर बेचने की सोच रहे है तो यह केवल बेवकूफी ही होगी।

NFT का अर्थ ही होता है कि कोई अनोखी चीज़। अगर आप किसी गाने को कंपोज़ कर सकते है तो उसे अपनी आवाज़ मे रिकॉर्ड कर के बेच सकते है या आप पेंटिंग करने का शौक रखते है और यूनिक पेंटिंग बना सकते है तो आप उसे भी NFT के द्वारा बेच सकते है।

जब आप निश्चित कर ले कि आप किस चीज़ को NFT पर बेचना चाहते है तो आपका अगला कदम होगा कि आप किस ब्लॉक चैन पर उस चीज़ को बेचे। NFT को खरीदने और बेचने के लिए सबसे अधिक एथेरियम ब्लॉक चैन का इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा आप NFT को स्टोर करने के लिए Binance Smart chain, EOS आदि ब्लॉक चैन का इस्तेमाल कर सकते है।

जब आप निश्चित कर ले कि आपको किस डिजिटल आर्ट को बेचना है, उसके बाद आपको कुछ ईथर खरीदने होंगे। ईथर एथेरियम के टोकन है इनके जरिये ही आप अपने डिजिटल आर्ट को ब्लॉक चैन पर स्टोर कर पाएंगे। इसके बाद जब आप अपने डिजिटल आर्ट को यहाँ लिस्ट करंगे तो आपको गैस फ़ीस देनी होगी।

आपको इस बात का खास तौर पर ख्याल रखना है कि आप जिस नेटवर्क का इस्तेमाल कर रहे है वह एथेरियम को सपोर्ट करता हो जैसे Rarible, Super Rare आदि। इसके साथ आपको डिजिटल वॉलेट की आवश्यकता भी होगी।

जब आप अपनी NFT को लिस्ट करेंगे तब आपके आर्ट की बोली लगाई जाएगी। यह आप चीजों की नीलामी जैसा ही है जितने लोग बोली मे शामिल होंगे उतना आपको लाभ मिलने की संभावना है। इसके अलावा आप अपने NFT की कीमत खुद भी तय कर सकते है।

NFT टोकन का प्रयोग कहाँ होता है? (NFT Token Uses)

NFT टोकन का प्रयोग डिजिटल प्रोडक्ट की ओनरशिप के लिए किया जाता है जैसे आपने कोई डिजिटल आर्ट बनायीं है तो आप NFT के जरिये उसे आपने नाम पर रजिस्टर कर सकते है।

NFT का गेमिंग मे क्या महत्व है? (NFT in Gaming)

NFT को डिजिटल वर्ल्ड मे बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है, जिसका प्रभाव गेमिंग वर्ल्ड पर भी होगा। इसके जरिये सिर्फ वही व्यक्ति गेम कैरेकटर का प्रयोग का पाएंगे जिनका उस पर स्वामित्व होगा, अन्य व्यक्ति उनका प्रयोग नहीं कर सकते।

उदहारण के लिए अपने गेम खेलने के लिए कोई हथियार खरीदा है तो उसका प्रयोग करने के लिए दूसरे व्यक्ति को आपको कुछ पैसा देना होगा। ऐसे मे यह कहना बिलकुल सही है कि गेमिंग वर्ल्ड मे यह एक बड़ा मार्किटप्लेस होगा।

NFT के लिए किन चीजों की आवश्यकता

अगर आप भी NFT मे रूचि रखते है और डिजिटल आर्ट बनाकर उसे बेचना चाहते है तो हम आपको विस्तार से यह जानकारी देंगे कि NFT के लिए किन चीजों की आवश्यकता है:-

  • डिजिटल वॉलेट:- आप NFT मिंट करना चाहते है तो उसके लिए आपके पास क्रिप्टो करेंसी होनी चाहिये और उसके लिए आपको एक डिजिटल वॉलेट की जरूरत होगी जैसे METAMASK, Math Wallet, Alpha Wallet आदि। डिजिटल वॉलेट बनने के बाद आपको ईथर खरीदने होंगे, जिससे आप आगे का प्रोसेस पूरा कर पाएंगे।
  • NFT मार्किटप्लेस चुने:- डिजिटल वॉलेट तैयार होने के बाद आपको इसे NFT मार्किटप्लेस जैसे Opensea, Rarible, Mintable आदि से जोड़ना होगा जहाँ पर आप NFT बना पाएंगे।
  • फाइल अपलोड करे:- अपने जिस डिजिटल आर्ट को तैयार किया है उसका डिजिटल फाइल आपको NFT मार्किटप्लेस पर अपलोड करना होगा।
  • ट्रांससेक्शन फीस:- NFT के प्रोसेस को पूरा करने के लिए आपको ट्रांससेक्शन फीस देनी होगी जो आप ईथर क्रिप्टो करेंसी से पे करेंगे।
  • NFT मिंट होने का इंतज़ार:- जब आप ट्रांससेक्शन फीस पे कर देंगे तो उसके बाद मिन्टिंग प्रोसेस ऑटोमेटिक शुरू हो जायेगा, जिसके बाद एथेरियम ब्लॉक चैन आपके डिजिटल आर्ट के लिए यूनिक कोड जारी करेगा।
  •  NFT बेचे:- जब आपका NFT मिंट प्रोसेस पूरा हो जायेगा तो उसके बाद आप अपनी डिजिटल आर्ट को अपनी कीमत या बोली लगवा कर बेच सकते है।

NFT टोकन बनने मे कितना खर्च आता है?

NFT टोकन के लिए प्रत्येक प्लेटफार्म अपना अलग-अलग चार्ज लेते है जैसे एथेरियम पर NFT बनाने मे 40 डॉलर से लेकर 100 डॉलर तक का खर्च होता है। वैसे तो NFT की टकसाल फ्री रहती है लेकिन इसको मैनेज करने के लिए फीस ली जाती है क्योकि इसे बनाने के लिए स्पेशल टोकन ERC-721 टोकन की आवश्यकता होती है।

NFT की विशेषताएं (Advantages of NFT)

  • यूनिक:- प्रत्येक NFT की अपनी एक अलग पहचान है, कोई भी NFT एक दुसरे से नहीं मिलती। यह सभी जानकारी टोकन मे दर्ज करती है। आप यहाँ पर किसी भी चीज़ को इन्टरनेट से उठा कर नहीं बेच सकते।
  • डिजिटल रूप से दुर्लभ वस्तु:- ब्लॉक चैन नेटवर्क मे NFT को रखा जाता है, जिससे किसका मालिकाना हक़ है यह जानकारी ब्लॉक चैन मे मौजूद रहती है।
  • टुकडो मे नहीं बाँट सकते:- जिस प्रकार क्रिप्टो मुद्रा को टुकडो मे खरीदा जा सकता है उस प्रकार आप NFT को टुकडो मे नहीं बाँट सकते है। अगर आप सोचे कि आप एक हिस्से को अभी खरीद ले और दूसरे को बाद मे तो यह संभव नहीं है।
  • स्वामित्व:- NFT का मालिक कौन है यह जानकारी टोक्नो के द्वारा गारंटीकृत रहती है।
  • धोखाधड़ी:- NFT डिजिटल रूप मे ब्लॉक चैन मे सुरक्षित रहता है जिससे किसी भी प्रकार की धोखाधडी संभव नहीं है।

NFT टोकन की हानि

  • डिजिटल करेंसी की कीमत मे कब उछाल आयेगा और कब नहीं इसके बारे मे अनुमान नहीं लगाया जा सकता है।
  • NFT अभी लोगो के लिए नई है इसलिए इस पर आम लोगो का विश्वास कर पाना मुश्किल है।
  • आप सभी जान गए है कि यह डिजिटल रूप मे ब्लॉक चैन मे स्टोर रहती है और कभी टेक्नोलॉजी किसी करना से प्रभावित होती है तो इसे चेक कर पाना मुश्किल कार्य है।

NFT महंगा क्यों होता है?

NFT के महंगा होने का कारण है कि जो चीज़े डिजिटल रूप मे बेचीं जाती है वह देखने मे यूनिक होती है जिन्हें देख कर कोई भी उनकी तरफ आकर्षित हो जाता है।

NFT का भविष्य (Future of NFT)

  • कोरोना काल मे NFT रिपोर्ट 2020 शो की गयी थी जिसके अनुसार इस महामारी मे NFT की बिक्री 100 मिलियन अमेरिकी डॉलर से भी अधिक हुई।
  • NFT के भविष्य की बात करे तो अब भारत सरकार और आर बी आई डिजिटल करेंसी के लिए एक खाका तैयार कर रही है जिससे ऑफिसियल रूप से डिजिटल करेंसी को मान्यता मिले।
  • आने वाले समय मे NFT बहुत बड़ी चीज़ बन सकती है जो हमारे पैसे, सम्पति आदि से निपटने के तरीको मे क्रांति लाएगी।

भारत मे NFT की डिमांड (Demand of NFT in India)

भारत मे भी NFT की डिमांड दिन-प्रतिदिन बढती ही जा रही है। भारतीय डिजिटल करेंसी की ओर आकर्षित हो रहे है। बॉलीवुड अभिनेता से लेकर खिलाडी तक आपने NFT को लांच करने की रेस मे शामिल हो रहे है। हाल ही मे सलमान खान ने Bollycoin के साथ मिलकर अपना NFT कलेक्शन लाने की घोषणा की है।

वही सुपरस्टार अमिताभ बच्चन ने भी NFT के रूप मे अपनी फिल्म के ऑटोग्राफ वाले पोस्टर लांच करने की बात कही है। इनके साथ ही भारतीय क्रिकेटर दिनेश कार्तिक क्रिकेट मैच के आर्ट की डिजिटल लॉन्चिंग कर रहे है जिसमे उन्होंने अंतिम बॉल पर छक्का लगाकर जीत हासिल की। इन्होने उसके लिए 5 एथेरियम यानि 15 लाख रुपए की कीमत तय की है।

इनके जैसे कई प्रशिद्ध भारतीय है जो NFT मे अपना हाथ अजमा रहे है। अब आपको इस बात का अंदाजा तो हो ही गया होगा कि भविष्य मे NFT एक बहुत बड़ी भूमिका अदा करने वाला है।

NFT और क्रिप्टो करेंसी मे क्या अंतर है? (Difference between NFT and Cryptocurrency)

जैसा कि हमने आपको बताया कि NFT ब्लॉक चैन पर आधारित है, लेकिन इसे क्रिप्टो करेंसी की तरह आपस मे बदला नहीं जा सकता है। उदहारण के लिए:

मान लीजिये आपके पास 1 बिटकॉइन है और आप उसे एथेरियम या अन्य क्रिप्टो करेंसी बदलना चाहते है तो आप यह काम आसानी से कर सकते है या आपके पास 20 रुपए का पुराना नोट है और आप उसे नए नोट मे बदलना चाहते है तो यह भी आप कर सकते है, परन्तु आप एक NFT को अन्य NFT से बदलना चाहे तो यह संभव नहीं है क्योकि दोनों NFT एक दुसरे से अलग है।

NFT को आप टुकडो मे नहीं बाँट सकते हो जैसे हम बिटकॉइन को 0.2, 0.02 टुकडो मे खरीद सकते है लेकिन NFT को इस प्रकार नहीं खरीदा जा सकता।

NFT से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रश्न (FAQs)

  • NFT क्या है?

    NFT एक प्रकार के यूनिक डिजिटल एसेट्स है।

  • NFT टोकन क्या है?

    NFT टोकन के जरिये डिजिटल आर्ट के लिए यूनिक नंबर दिया जाता है।

  • NFT का फुल फॉर्म क्या है?

    NFT का फुल फॉर्म नॉन फंज़िबल टोकन (Non-Fungible Token) है

  • NFT Marketplace कौन से है?

    NFT Marketplace Opensea, Rarible, Mintable आदि है

निष्कर्ष

जैसा कि NFT की चर्चा आज कल बहुत आधिक है तो हमने पूरी कोशिश की है कि NFT से जुडी सभी जानकारी आपको विस्तार से प्रदान की जाये, ताकि आपके मन मे NFT को लेकर जो भी शंका है वह दूर हो जाये।

आज इस लेख के जरिये हमने आपको NFT क्या है? NFT किस प्रकार काम करती है और NFT को किस प्रकार बेचा जा सकता है? इसके साथ ही  NFT से जुडी कुछ अन्य जानकरी भी देने की कोशिश की है। उम्मीद है आपको हमारा लेख पसंद आया होगा।

यह भी देखें 👇👇