आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन 2021 | Ayushman Bharat Digital Health Mission 2021

ayushman bharat digital health mission

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2020 में आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन का जो वादा किया था, साल 2021 में उस वादे को पूरा कर लिया है और आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन को लॉन्च कर लिया है। यह मिशन आम नागरिक के लिए काफी फायदेमंद है। इसके साथ ही डॉक्टर को भी आपका इलाज करने में काफी मदद मिलेगी। आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन क्या है और यह काम कैसे करता है? इस बारे में इस लेख में जानेंगे। इसके अलावा इससे सम्बंधित महत्पूर्ण जानकारी भी आपको देंगे।

Table of Contents Hɪᴅᴇ🙈

आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन क्या है?

आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन या प्रधानमंत्री डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के तहत स्वास्थ्य से सम्बंधित जानकारी की सुरक्षा, गोपनीयता और निजता को बनाए रखने के साथ साथ डाटा, सूचना और जानकारी का एक सहज ऑनलाइन प्लेटफार्म का निर्माण होगा। इस मिशन के अंतर्गत नागरिकों की सहमति से स्वास्थ्य रिकॉर्ड की जानकारी के साथ साथ आदान-प्रदान सक्षम हो पायेगा। इस अभियान के तहत प्रत्येक नागरिक को स्वास्थ्य आईडी मिलेगी जो कि यूनिक हेल्थ आईडी होगी।

योजना का नामप्रधानमंत्री डिजिटल स्वास्थ्य मिशन
विभाग का नामस्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण
घोषणाकर्ताप्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी
लाभार्थीसंपूर्ण भारतवासी
वर्ष2021
योजना लेवलराष्ट्रीय स्तर
योजना का प्रकारकेंद्र सरकार योजना
स्थानभारत
ऑफिशियल वेबसाइटndhm.gov.in

यूनिक हेल्थ आईडी क्या है?

प्रधानमंत्री-डीएचएम में प्रत्येक नागरिक को प्राप्त यूनिक हेल्थ आईडी में रैंडम तरीके से नंबर को जनरेट किया जाएगा और यह नंबर 14 अंकों का होगा। इस आईडी की मदद से व्यक्ति के हेल्थ रिकॉर्ड को संग्रहीत किया जा सकता है। इस आईडी को स्वास्थ्य खाते के रूप में प्रयोग में लाया जायेगा, जिससे स्वास्थ्य रिकॉर्ड को मोबाइल एप्लीकेशन की मदद से देखा जा सकता है। यह डाटा हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स रजिस्ट्री (HPR) और हेल्थकेयर फैसिलिटीज रजिस्ट्रियां (HFR) में संग्रहीत होगा, जो कि एक कोष (भंडार) की भूमिका निभाएंगे। इस संग्रहीत डाटा को हेल्थकेयर प्रोवाइडर्स से साझा किया जाएगा।

आधार नंबर को यूनिक हेल्थ आईडी के रूप में इस्तेमाल क्यों नहीं किया जा सकता है?

आधार को सिर्फ उन जगहों पर लिंक करना जरूरी है जहां डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर की बात हो। इसका कहीं और इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। यही कारण है कि आधार नंबर को यूनिक हेल्थ आईडी के रूप में इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है।

आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन का उद्देश्य

आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन का मुख्य उद्देश्य भारत की स्वास्थ्य सेवा प्रणाली को और बेहतर करना है। देशभर में स्वास्थ्य सेवाओं को डिजिटल करने से भविष्य में इसके काफी फायदे देखने को मिलेंगे। इसे हेल्थकेयर की जरूरतों का वन-स्टॉप सॉल्यूशन बनाने की तैयारी है। इससे हेल्थकेयर सर्विस देने वाले संस्थानों तक पहुंचना ज्यादा आसान होगा और उनकी जवाबदेही भी बढ़ेगी।

आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के फायदे (Ayushman Bharat Digital Health Mission Benefits)

आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के फायदे/लाभ निम्नलिखित हैं:

  • इस अभियान के तहत नागरिकों को आधार की तर्ज पर एक यूनिक हेल्थ आईडी मिलेगी, जिससे हर नागरिक का स्वास्थ्य रिकॉर्ड डिजिटल रूप में सुरक्षित रहेगा।
  • स्वास्थ्य से सम्बंधित जानकारी की सुरक्षा, गोपनीयता और निजता को बनाए रखने के साथ साथ डाटा, सूचना और जानकारी का एक सहज ऑनलाइन प्लेटफार्म का निर्माण होगा।
  • इस मिशन के अंतर्गत नागरिकों की सहमति से स्वास्थ्य रिकॉर्ड की जानकारी के साथ साथ आदान-प्रदान सक्षम हो पायेगा।
  • अगर आप देश के किसी भी कोने में इलाज के लिए जाएंगे तो आपको कोई जांच रिपोर्ट या पर्ची नहीं ले जानी होगी, आपकी सारी जानकारी हेल्थ कार्ड में मौजूद होगी।
  • डॉक्टर सिर्फ आईडी के द्वारा ही पता कर लेंगे कि आपको पहले कौन सी बीमारी रही है और आपका कहां क्या इलाज हुआ है और आगे कैसे इलाज की जरूरत हो सकती है।
  • आयुष्मान भारत के तहत मरीज को इलाज की सुविधाओं का लाभ मिलने से सम्बंधित जानकारी भी यूनिक हेल्थ कार्ड के जरिये पता चल सकेगी।
  • इसके अलावा मरीज को स्वास्थ्य से संबंधित मिलने वाली सरकारी योजनाओं के लाभ से सम्बंधित जानकारी भी स्वास्थ्य कार्ड से पता चल सकेगी।

यूनिक हेल्थ आईडी कार्ड कैसे बनायें?

यूनिक हेल्थ आईडी कार्ड को आधार कार्ड की मदद से बनाया जा सकता है। इसके साथ ही मोबाइल नंबर भी आवश्यक है, जिससे यूनिक हेल्थ आईडी बनाई जा सकती है। सार्वजनिक अस्पताल, कम्युनिटी हेल्थ सेंटर, हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर और नेशनल हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर रजिस्ट्री से जुड़े हेल्थकेयर प्रोवाइडर, किसी व्यक्ति का हेल्थ कार्ड बना सकते हैं। आप खुद भी नीचे दिए गये स्टेप्स को फॉलो करके अपना यूनिक हेल्थ आईडी कार्ड बना सकते हैं:

  • सबसे पहले नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाइए।
1
  • अब “Create your Health ID / अपनी हेल्थ आईडी बनाएं” पर क्लिक करें।
2
  • अब “Generate via Aadhaar” पर click करें।
3
  • यहाँ पर अपना आधार नंबर दर्ज करें।
4
  • अब I Agree और Captcha fill करके Submit पर click करें।
5
  • आपके आधार पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी आयेगा।
  • ओटीपी को एंटर कर “Submit” पर क्लिक करें।
6
  • अब अपना मोबाइल नंबर दर्ज कर Submit पर क्लिक करें।
7
  • दर्ज किये हुए मोबाइल नंबर पर ओटीपी आयेगा।
  • ओटीपी को एंटर कर Submit पर क्लिक करें।
8
  • अब Your Profile पेज खुल जायेगा।
9
  • यहाँ पर PHR Address एंटर करें जो कि आप कोई भी यूनिक यूजरनेम डाल सकते हैं।
10
  • Submit पर क्लिक करने पर आपको इस प्रकार का Health ID Card generate हो जायेगा।
11
  • इस Health ID Card को डाउनलोड कर सकते हैं।
  • Your Profile section में Set Password पर जाकर नया पासवर्ड भी set कर सकते हैं।
12 12

आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन एप्प डाउनलोड (NDHM Health Records Android App Download)

आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन एप्प डाउनलोड (NDHM Health Records Android App Download) 👉👉 https://play.google.com/store/apps/details?id=in.ndhm.phr

आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन संपर्क डिटेल्स (National Digital Health Mission Contact Details)

National Digital Health Mission Contact Details/Address:

9th Floor, Tower-I, Jeevan Bharati Building,

Connaught Place, New Delhi – 110001

Contact Number: 1800-11-4477 / 14477 (Toll-free)

E-mail: ndhm@nha.gov.in

आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन में शिकायत कैसे दर्ज करें?

आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन में शिकायत दर्ज करने के लिए नीचे दिए गये स्टेप्स को फॉलो करें:

  • सबसे पहले आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के शिकायत पोर्टल पर जाइए
1 1
  • यहाँ पर Register your Grievance / IT Incident पर click करें
  • Grievance Form का पेज खुलकर आ जायेगा
2 1
  • उपयुक्त जानकारी भरने के बाद Submit पर click करें
3 1

आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन में दर्ज शिकायत को ट्रैक कैसे करें?

आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन में दर्ज शिकायत को ट्रैक करने के लिए नीचे दिए गये स्टेप्स को फॉलो करें:

  • सबसे पहले आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के शिकायत पोर्टल पर जाइए
  • यहाँ पर TRACK YOUR GRIEVANCE पर click करें
1 2
  • अब Application No./ Mobile No./ Email- ID दर्ज करें
2 2
  • इसके बाद Search बटन पर click करें

निष्कर्ष

आयुष्मान भारत डिजिटल स्वास्थ्य मिशन डिजिटल भारत की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। आने वाले समय में इस स्वास्थ्य मिशन से इलाज करने में काफी आसानी हो जायेगी। अगर आपके पास कोई भी सवाल हैं तो आप हमसे बिना संकोच के पूछ सकते हैं। आपके सवालों का जल्द से जल्द जवाब देने की हमारी पूरी कोशिश रहेगी।

यह भी देखें 👉👉 पीएम किसान मानधन योजना क्या है?

यह भी देखें 👉👉 सुकन्या समृद्धि योजना क्या है? सुकन्या समृद्धि योजना के फायदे, नियम