बिहार के प्रमुख जलप्रपात | Major Waterfall of Bihar

waterfall in bihar

बिहार के प्रमुख जलप्रपात (Major Waterfall of Bihar) मूलतः सीमांत पठारी क्षेत्रों में रोहतास, कैमूर, गया, नवादा आदि जिलों में पाए जाते है। ककोलत जलप्रपात (Waterfall) बिहार का सबसे प्रसिद्ध जलप्रपात है, जो  ककोलत पहाड़ी (नवादा) में स्थित है। यह जलप्रपात (Waterfall) नवादा से 16 किलोमीटर दक्षिण में स्थित है, तथा इसकी ऊँचाई 47 मीटर (160 फीट) है, किन्तु मुख्य जलप्रपात (Waterfall) की ऊँचाई 24 मीटर (80 फीट) है। कोडरमा पठार से उतरने वाली 7 धाराओं के संगम से ककोलत जलप्रपात का निर्माण हुआ है।

कनहर नदी के द्वारा बिहार में सूखलदरी जलप्रपात (Waterfall) का निर्माण हुआ है। जो बिहार और उत्तर प्रदेश की सीमा पर स्थित है। ताराचंडी पहाड़ी, रोहतास में काव नदी पर धुआँकुंड जलप्रपात (Waterfall)  स्थित है। दुर्गावती जलप्रपात (Waterfall), रोहतास जिले के छानपापर नामक स्थान पर स्थित है। इसकी ऊँचाई 90 मीटर (300 फीट) है। जिआरखंड जलप्रपात (Waterfall), भोजपुर जिले में फुलवरिया नदी पर स्थित है।

बिहार राज्य में प्रमुख आयोग

बिहार के प्रमुख जलप्रपात (Waterfall) एवं उनकी स्थिति 

जलप्रपात का नामनदीस्थान
ककोलतकोडरमा पठार से उतरने वाली धाराककोलत (नवादा)
सुखलदरीकनहररोहतास
धुआँकुंड (30 मीटर)काव, धोबाताराचंडी (रोहतास)
दुर्गावती (खादर कोह) (80 मीटर)दुर्गावतीछानपापर (रोहतास)
जिआरखंडफुलवरियाजिआरखंड (भोजपुर)
तमासीनमहाने
खुआरी दाह (180 मीटर)असानेरोहतास
राकिमकुंडगायघाटरोहतास
ओखारीनकुंड (90 मीटर)गोपथरोहतास
सुआरा (120 मीटर)पूर्वी सुआरारोहतास
देवदारी (58 मीटर)कर्मनाशारोहतास पठार (रोहतास)
तेलहरकुंड (80 मीटर)पश्चिम सुआरारोहतास पठार (रोहतास)