Categories: Uttarakhand

उत्तराखण्ड के प्रमुख बांध / जल विद्युत परियोजनाएं

Uttarakhand Dam – उत्तराखण्ड के प्रमुख बांध / जल विद्युत परियोजनाएं नीचे दी गयी हैं:

उत्तराखण्ड में विद्युत ऊर्जा उत्पादन,पारेषण,वितरण एवं परिचालन निम्न संस्थाओं द्वारा किया जाता हैं-

उत्तराखण्ड विद्युत निगम-: 1 अप्रैल 2001 को स्थापित किया गया।

THDC टिहरी हाइड्रो डेवलपमेंट कारपोरेशन-: 12 जुलाई 1988 को स्थापित।

PTCUL पॉवर ट्रांसमिशन कॉर्पोरेशन ऑफ़ उत्तराखण्ड लिमिटेड-: 1 जून 2004 को स्थापित।

UPCL उत्तराखण्ड पॉवर कॉर्पोरेशन लिमिटेड-: यह उत्तराखण्ड विद्युत निगम के अधीन ही कार्य करता है।

UREDA उत्तराखण्ड रिन्यूएबल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी-: अल्मोड़ा में 2001 में स्थापित।

उत्तराखंड के प्रमुख त्यौहार यहां क्लिक करें

प्रमुख जल-विद्युत परियोजनाएं:

ग्लोगी जल विधुत परियोजना

  • ग्लोगी जल विधुत परियोजना मसूरी के भट्टा फॉल पर स्थित है
  • इसकी क्षमता 1000 मेगावाट की है
  • ग्लोगी जल विधुत परियोजना उत्तराखंड को पहली जल विधुत परियोजना है इसमें 1909 से विधुत उत्पादन हो रहा है

टिहरी परियोजना

  • टिहरी जल विधुत परियोजना भागीरथी तथा भिलंगना नदियों के संगम पर टिहरी में स्थित है
  • वर्तमान में टिहरी बाँध एशिया का सबसे ऊंचा बाँध है जिसकी ऊंचाई 260.5 मीटर है , इसकी विशालता के कारण इसे राष्ट्र का गाँव कहा गया है
  • टिहरी बाँध की कुल विधुत उत्पादन क्षमता 2400 मेगावाट है
  • टिहरी बाँध की कुल जल धारण क्षमता 354 करोड़ घन मीटर है तथा इसका जलाशय 42 वर्ग किमी में फैला है जिसे स्वामी रामतीर्थ सागर के नाम से जाना जाता है
  • टिहरी परियोजना को 1972 में योजना आयोग ने स्वीकृति प्रदान की और 1978 में सिंचाई विभाग द्वारा इसका निर्माण शुरू किया गया , कार्य धीमा होने के कारण 1988 में इसके निर्माण की जिम्मेदारी टिहरी जल बाँध निगम का गठन कर उसको दे दी गयी
  • टिहरी बाँध का डिजाईन प्रो. जेम्स ब्रून ने तैयार किया
  • टिहरी के लोगो ने विस्थापन के चलते टिहरी बाँध का विरोध भी किया , बाँध के विरोध के लिए 1978 में टिहरी में बाँध विरोधी समिती का गठन किया गया

विष्णु प्रयाग जल विधुत परियोजना

  • विष्णु प्रयाग जल विधुत परियोजना चमोली जिले में अलकनंदा नदी पर स्थित है
  • इसकी कुल  क्षमता 650 मेगावाट है

उत्तराखंड के प्रमुख जल प्रपात यहां क्लिक करें

धौलीगंगा परियोजना

  • धौलीगंगा परियोजना पिथोरागढ़ जनपद के धारचूला में धौलीगंगा नदी पर स्थित है
  • इसकी कुल क्षमता 280 मेगावाट की है जिसे 2005 में शुरू किया गया
  • इस  परियोजना में कट ऑफ वाल तकनीक का प्रयोग किया गया है

पंचेश्वर बाँध परियोजना

  • पंचेश्वर बांध परियोजना  उत्तराखंड के चम्पावत जिले में बनाने वाली एक जल विधुत परियोजना है
  • पंचेश्वर बाँध के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

इनके अलावा उत्तराखंड की कुछ अन्य जल विधुत परियोजनाएं , उनसे सम्बंधित नदी , क्षमता तथा स्थिति निम्नलिखित है

  • मनेरी भाली परियोजना – भागीरथी , 90 मेगावाट , उत्तरकाशी
  • श्रीनगर जल विधुत परियोजना – अलकनंदा, 330 मेगावाट , श्रीनगर
  • पथरी परियोजना – गंगा नहर , 20 मेगावाट, हरिद्वार
  • खटीमा परियोजना – शारदा , 41 मेगावाट , उधम सिंह नगर
  • छिबरो परियोजना – टोंस , 240 मेगावाट , देहरादून
  • रामगंगा परियोजना – रामगंगा , 198 मेगावाट , पौड़ी
  • टनकपुर परियोजना – शारदा , 120 मेगावाट , चम्पावत

उत्तराखंड के प्रसिद्ध लोक नृत्य यहां क्लिक करें

उत्तराखंड की जल विधुत परियोजनाएं जिला और नदी के साथ:

योजना जिला नदी
विष्णु प्रयाग चमोली अलकनंदा
पाला मनेरी उत्तरकाशी भागीरथी
मनेरी भाली उत्तरकाशी भागीरथी
कोटेश्वर टिहरी भागीरथी
किसाऊ देहरादून टोंस
लखवाड़ देहरादून यमुना
 व्यासी देहरादून यमुना
कटा पत्थर देहरादून यमुना
तपोवन चमोली धौलीगंगा
बोवाला चमोली अलकनंदा
कोटली भेल टिहरी गंगा
लोहारी-नागपाल उत्तरकाशी भागीरथी
लोटा तपोवन चमोली धौलीगंगा
बगौली बांध चमोली पिंडर
पाडली बांध चमोली पिंडर
कोठार  अल्मोड़ा कोसी
पंचेश्वर  चम्पावत-नेपाल काली
कालागढ़ पौड़ी-नैनीताल रामगंगा
उत्यासूं बांध पौड़ी अलकनंदा
चीला परियोजना पौड़ी  गंगा
Subscribe Us
for Latest Updates