Categories: Question Answer

रेलवे जंक्शन, रेलवे स्टेशन, रेलवे टर्मिनल और सेंट्रल में क्या अंतर है?

आपने कई बार रेलवे जंक्शन, रेलवे स्टेशन, रेलवे टर्मिनल और सेंट्रल शब्द को सुना ही होगा। आखिर इनका मतलब होता क्या है? यहां पर हम यह सभी जानकारी आपको देंगे। लेकिन इससे पहले हम आपको यह बता दें कि भारत सरकार द्वारा संचालित भारतीय रेलवे एशिया का सबसे बड़ा रेल नेटवर्क और विश्व का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है. भारत में रेलवे पटरी 92,081 किलोमीटर में फैली हुई है जो 66,687 किलोमीटर की दूरी को कवर करती है। किसी स्थान को कभी रेलवे स्टेशन तो कभी किसी को रेलवे जंक्शन कहा जाता है। अब हम रेलवे जंक्शन, रेलवे स्टेशन और रेलवे टर्मिनल के बारे में जानते हैं।

रेलवे स्टेशन को मूलरूप से चार भागों में बांटा गया है:

  • रेलवे जंक्शन
  • रेलवे स्टेशन
  • टर्मिनस
  • सेंट्रल

रेलवे जंक्शन

रेलवे जंक्शन वह जगह होती है जहां पर अलग अलग दिशाओं से आकर रेल की पटरी मिलती है। यहां पर ट्रेन की दिशा बदली जा सकती है। सरल शब्दों में कहें तो यदि एक स्टेशन से कम से कम 3 मार्ग निकलते हों तो उस स्टेशन को जंक्शन कहा जाता है। सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन मथुरा का है जहां से सात रूट निकलते हैं। यहां पर पटरियां एक दूसरे से मिलती और दूर होती हुई दिखाई देती है। यानी ट्रेन कम से कम एक साथ दो रूट से आ भी सकती है और जा भी सकती है, यही स्थान रेलवे जंक्शन कहलाता है।

उदाहरण:

  • मथुरा जंक्शन (7 रूट)
  • सलीम जंक्शन (6 रूट)
  • विजयवाड़ा जंक्शन (5 रूट)
  • बरेली जंक्शन (5 रूट)

रेलवे स्टेशन

रेलवे स्टेशन उस स्थान को कहते हैं जहां पर ट्रेन की दिशा को बदलने की सुविधा उपलब्ध नहीं होती है। यहां एक दिशा से ट्रेन आती है और दूसरी दिशा में चली जाती है। यहां पर ट्रेन आने जाने वाले यात्रियों और समानों के लिए रुकती है। भारत में लगभग साढ़े आठ हजार रेलवे स्टेशन हैं।

टर्मिनल या टर्मिनस

टर्मिनस या फिर टर्मिनल एक ऐसा स्टेशन है जहां से ट्रेन आगे नहीं जाती है। ट्रैक के समाप्त होने पर एक स्टेशन को टर्मिनस या टर्मिनल कहा जाता है। जिस दिशा से ट्रेन टर्मिनल स्टेशन पर पहुंचती है तो उसको वापिस उसी दिशा से जाकर फिर से गुजरना पड़ता है। भारत में कुल 27 टर्मिनस स्टेशन हैं।

उदाहरण:

  • छत्रपति शिवाजी टर्मिनस (सीएसटी)
  • लोकमान्य तिलक टर्मिनस (एलटीटी)
  • कोच्चि हार्बर टर्मिनस

सेंट्रल

सेंट्रल स्टेशन शहर का सबसे व्यस्त और सबसे महत्वपूर्ण स्टेशन है। यहां पर ट्रेनों का सबसे ज्यादा समागम होता है। इसके अलावा इसके इर्द-गिर्द सबसे ज्यादा स्टेशन होते हैं। कई जगहों पर पुराने स्टेशन को भी सेंट्रल कहा जाता है। भारत में कुल 5 सेन्ट्रल स्टेशन हैं। ये भी ज़रूरी नहीं कि किसी शहर में एक से ज़्यादा स्टेशन होने पर वहां कोई सेंट्रल स्टेशन भी हो।

उदाहरण:

  • मुंबई सेन्ट्रल (बीसीटी)
  • चेन्नई सेन्ट्रल (एमएएस)
  • त्रिवेंन्द्रम सेन्ट्रल (टीवीसी)
  • मैंग्लोर सेन्ट्रल (एमएक्यू)
  • कानपुर सेन्ट्रल (सीएनबी)
admin

Recent Posts

Kanya Sumangala Yojana – कन्‍या सुमंगला योजना के लिए कैसे करें आवेदन?

Kanya Sumangala Yojana Kanya Sumangala Yojana - बेटियों को उच्च स्तर पर पढ़ें हेतु एवं उन्हें समाज में पुरुषों की… Read More

8 hours ago

Kabir Ke Dohe in Hindi – कबीर के दोहे हिंदी अर्थ सहित

Kabir Ke Dohe - कबीर के दोहे Kabir Ke Dohe - कवि कबीर दास का जन्म वर्ष 1440 में और… Read More

5 days ago

Vidmate Download – Vidmate app free download Youtube Videos

Vidmate Download - Vidmate app free download Youtube Videos Vidmate Download - Vidmate app free download Youtube Videos - Vidmate… Read More

6 days ago

Beti Bachao Beti Padhao – बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध सहित

Beti Bachao Beti Padhao Yojana - हमारे देश (भारत) में अनेकों प्रकार की परम्पराओं का चलन है, कुछ परम्पराओं को… Read More

1 week ago

Saksham Yojana – सक्षम योजना | Check Status, लाभ, आवेदन

Saksham Yojana - भारत में हर साल जनसँख्या वृद्धि के साथ साथ बेरोजगारी दर में भी वृद्धि हो रही है,… Read More

1 week ago

Sukanya Samriddhi Yojana – सुकन्या समृद्धि योजना – फायदे, नियम

Sukanya Samriddhi Yojana - सुकन्या समृद्धि योजना जिसे सुकन्या योजना भी कहा जाता है, बेटियों के लिए चलाया गया एक… Read More

1 week ago

For any queries mail us at admin@meragk.in