पासवर्ड को हिंदी में क्या कहते हैं? Password in Hindi

आज के इस डिजिटल युग में पासवर्ड आपके जीवन का अहम हिस्सा बन गया है। हर किसी के पास किसी ना किसी चीज़ से सम्बंधित पासवर्ड तो होता ही है, जैसे मोबाइल फ़ोन सभी के पास होता है, तो उसमे स्क्रीन लॉक में पासवर्ड लगाया जाता है, या ईमेल आईडी लगभग सभी के पास होती है, तो उसमे पासवर्ड होता है।

इस प्रकार देखा जाए तो लगभग सभी ऐसी चीज़ें जिनमें गुप्त जानकारियां रहती हैं उसमे पासवर्ड लगाया जाता है जिससे उनको अन्य से सुरक्षित रखा जा सके। बिना पासवर्ड के आप उस चीज़ को खोल नहीं सकते अर्थात उसके बारे में नहीं जान सकते।

इस प्रकार पासवर्ड बहुत ही जरुरी हो जाता है। आइये जानते हैं पासवर्ड को हिंदी में क्या कहते हैं? (password ko hindi mein kya kahate hain?)

पासवर्ड को हिंदी में क्या कहते हैं? (Password in Hindi)

पासवर्ड (Password) अंग्रेजी भाषा का एक शब्द है जिसका हिंदी में मतलब ‘गुप्त शब्द’ या ‘कूटशब्द’ होता है। कुछ लोगों के द्वारा इसको “सांकेतिक शब्द” भी कहा जाता है। कूटशब्द या गुप्तशब्द उनको कहते हैं जिसके बारे में सिर्फ आप जानते हैं,

यानी कि यह एक सीक्रेट होता है जिसे किसी को बताया नहीं जा सकता है। लेकिन पासवर्ड के लिए हिंदी के ये शब्द सामान्य तौर पर उपयोग नहीं किये जाते हैं और आमतौर पर लोग हिन्दी में भी इसे ‘पासवर्ड’ ही कहते हैं।

पासवर्ड दो शब्दों में मिलकर बना है, जिसमे “पास” का हिंदी में मतलब है “आगे बढ़ना” या “प्रवेश करना” और “वर्ड” का मतलब है “शब्द”; अर्थात “प्रवेश करने वाला शब्द” या “आगे के मार्ग का शब्द”।

विश्व पासवर्ड दिवस (World Password Day)

विश्व पासवर्ड दिवस (World Password Day) दुनिया भर में 7 मई को मनाया जाता है। इसकी शुरुआत सिक्योरिटी विशेषज्ञ मार्क बर्ननेट ने की थी जिनका मकसद पासवर्ड के प्रति लोगों को जागरुक करना था। मार्क बर्ननेट ने 2005 में एक किताब लिखी थी, जिसका नाम परफेक्ट पासवर्ड है।

जितना पासवर्ड से आप सुरक्षित महसूस करते हैं, असल में आपकी ऑनलाइन सिक्योरिटी के लिए पासवर्ड उतना ही खतरा भी पैदा कर सकता है। क्योकि पासवर्ड को चोरी करना आसान है, और याद रखना और मैनेज करना मुश्किल है।

प्रत्येक अकाउंट के लिए एक अलग पासवर्ड रखना मुश्किल है, क्योंकि इस डिजिटल युग में आपको कईं जगह अकाउंट और पासवर्ड बनाने पड़ते हैं और आप पासवर्ड भूल ना जाएं इस वजह से सब जगह एक ही पासवर्ड रख देते हैं।

इससे आपके एक पासवर्ड से आपके कईं अकाउंट की सुरक्षा के लिए खतरा पैदा हो जाता है। 66% अमेरिकी ने तो यह स्वीकार किया है कि कई साइटों पर उन्होंने एक ही पासवर्ड का उपयोग किया हुआ है। 2020 में “how strong is my password” (मेरा पासवर्ड कितना मजबूत है) की खोज में 300% की वृद्धि हुई है।

ऐसे में दो-चरणीय सत्यापन (two step verification) प्रोसेस से आपका अकाउंट ज्यादा सुरक्षित रहता है। लॉगिन करने के लिए अपने मोबाइल डिवाइस का उपयोग करने से जैसे कि वन टैप साइन इन या ओटीपी लोगों को केवल पासवर्ड की तुलना में अधिक सुरक्षित अनुभव मिलता है।

इसके अलावा पासवर्ड मैनेजर भी एक सुरक्षित अनुभव प्रदान करता है जैसे कि गूगल का पासवर्ड मैनेजर। अगर आप पासवर्ड भूल भी जाते हैं तो चिंता करने की कोई बात नहीं है, आप अपने पासवर्ड को पासवर्ड मैनेजर से एक्सेस कर सकते हैं।

पासवर्ड के लिए सावधानियाँ

कई लोग पासवर्ड याद नहीं रख पाते हैं, जिसकी वजह से वे सभी जगह एक ही पासवर्ड रखते हैं। ऐसी स्थिति में कोई भी हैकर आसानी से लोगों के पासवर्ड को तोड़ सकता है और साथ ही बड़ा नुकसान भी हो सकता है।

आजकल बहुत से फ्रॉड कॉल्स, मैसेज, और ईमेल आते रहते हैं जिनसे आपको हमेशा दूरी बनाये रखनी चाहिए। ये आपको लालच देने की कोशिश भी करते हैं तो कभी भी इनकी बातों में ना आइये और अपना पासवर्ड किसी को ना बताएं।

पासवर्ड की जरूरत क्यों होती है?

पासवर्ड की जरूरत हमे किसी एप्लिकेशन, वेबसाइट के यूजर अकाउंट, डिवाइस, सिस्टम आदि में प्रवेश पाने के लिए होती है। आज के समय में काफी लोग इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं। अगर आप अपना यूजर अकाउंट बनाते हैं तो उसमे पासवर्ड का इस्तेमाल होता है या फिर कुछ भी ऐसा उपयोग करते हैं

जहां पर अपना यूजर अकाउंट बनाने की जरूरत हो तो उस जगह पर पासवर्ड का इस्तेमाल होना आवश्यक है, अन्यथा इस अकाउंट को तो कोई भी एक्सेस कर लेगा। इसलिए आपकी जानकारी सुरक्षित रखने के लिए सिर्फ उस अकाउंट के मालिक के पास ही पासवर्ड का रहना सुरक्षित है।

अगर आप इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं तो वहां पर भी अपने अकाउंट को एक्सेस करने के लिए यूजर आईडी के साथ पासवर्ड की जरूरत होती है। या फिर अगर आपको कोई बुकिंग करनी है तो भी आपकी आईडी और पासवर्ड का आपके पास होना जरूरी है,

जिससे भविष्य में भी आप उस बुकिंग को एक्सेस कर सकते हैं। इस प्रकार देखा जाए तो अगर आप इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपके पास पासवर्ड तो अवश्य होगा। इसलिए अपने पासवर्ड को किसी के साथ शेयर ना करें और ज्यादा प्लेटफार्म पर एक ही पासवर्ड का इस्तेमाल ना करें।

पासवर्ड कैसा रखें?

पासवर्ड बड़ा, लंबा, छोटा हो सकता है। इसमें अंक, शब्द और कुछ विशेष अक्षर शामिल होते हैं। कभी भी कोई आसान पासवर्ड ना रखें या सिर्फ नंबर्स या सिर्फ अक्षरों में पासवर्ड ना रखें। बहुत से हैकर आपका पासवर्ड पता कर सकते हैं इसलिए हमेशा मिक्स पासवर्ड रखें।

मिक्स पासवर्ड से मतलब है आपके पासवर्ड में अक्षरों के साथ साथ नंबर और सिंबल भी होने चाहिए। संभव हो तो एक साथ कुछ छोटे और कुछ बड़े अक्षरों को सम्मिलित करें। कभी भी unknown सॉफ्टवेयर या एप्लीकेशन का उपयोग ना करें, इनसे आपका पासवर्ड खतरे में पड़ सकता है।

अपने अकाउंट को अधिक सुरक्षित करने के लिए “टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन” का इस्तेमाल करें। इसमें आपको पासवर्ड टाइप करने के बाद आपकी ईमेल आईडी या नंबर पर ओटीपी प्राप्त होगा, जिसको एंटर करने के बाद ही आप अकाउंट में लॉगिन कर सकते हैं।

FAQs

एक सुरक्षित पासवर्ड कैसा होना चाहिए?

एक सुरक्षित पासवर्ड में छोटे व बड़े अक्षरों के साथ साथ नंबर और सिंबल भी होने चाहिए। थोडा लम्बा पासवर्ड सुरक्षित हो सकता है लेकिन इतना भी लम्बा ना हो कि आप भूल जाएँ।

विश्व पासवर्ड दिवस कब मनाया जाता है?

विश्व पासवर्ड दिवस 7 मई को मनाया जाता है।

क्या पासवर्ड मैनेजर सुरक्षित है?

हाँ, पासवर्ड मैनेजर बिलकुल सुरक्षित है।

यह भी देखें: