मध्य प्रदेश की प्रमुख नदी घाटी परियोजनाएं

Madhya Pradesh GK, Madhya Pradesh General Knowledge, Madhya Pradesh samanya gyan, mp gk

1. चम्बल परियोजना

  • नदी: चम्बल
  • लाभान्वित जिले: श्योपुर, भिंड, मुरैना, ग्वालियर, मंदसौर
  • यमुना की सहायक नदी चम्बल पर स्थित यह मध्य प्रदेश व राजस्थान की संयुक्त परियोजना है।
  • यह देश की दूसरी बड़ी नदी घाटी परियोजना है।

2. नर्मदा घाटी परियोजना:

  • नदी: नर्मदा व उसकी सहायक 41 नदियाँ
  • लाभान्वित जिले: नर्मदा के उद्गम से समापन तक सम्पूर्ण जिले व गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान प्रदेश
  • इस परियोजना में लक्ष्य 2600 मेगावाट विधुत उत्पादन है,
  • इस परियोजना में लक्ष्य 27.5 लाख हेक्टेयर सिंचाई है।

3. बरगी परियोजना

  • नदी: नर्मदा
  • लाभान्वित जिले: जबलपुर, मंडला, सिवनी
  • इस परियोजना में लक्ष्य 1.50 लाख हेक्टेयर सिंचाई है।

4. बरगी अपवर्तन

  • नदी: नर्मदा, बरगी नगर
  • लाभान्वित जिले: जबलपुर, कटनी रीवा, सतना
  • इस परियोजना में लक्ष्य 2.45 लाख हेक्टेयर सिंचाई है।

5. जोबट – चंद्रशेखर आजाद परियोजना

  • नदी: हथनी
  • लाभान्वित जिले: अलीराजपुर
  • 9848 हेक्टेयर सिंचाई क्षमता जलग्रहण

6. अपर वेदा

  • नदी: वेदा
  • लाभान्वित जिले: खरगौन

7. सीतरेखा

  • नदी: सीतरेखा
  • लाभान्वित जिले: छिंदवाड़ा

8. तवा परियोजना

  • नदी: तवा
  • लाभान्वित जिले: होशंगाबाद
  • इस परियोजना में लक्ष्य 3.33 लाख हेक्टेयर सिंचाई है।

9. हलाली परियोजना

  • नदी: हलाली
  • लाभान्वित जिले: विदिशा, रायसेन
  • सिंचाई क्षमता वर्तमान में – 2.47 लाख हेक्टेयर

10. बाण सागर परियोजना

  • नदी: सोन नदी
  • लाभान्वित जिले: रीवा सीधी
  • इस परियोजना में लक्ष्य 405 मेगावाट विधुत उत्पादन है,
  • इस परियोजना में लक्ष्य 1.53 लाख हेक्टेयर सिंचाई है।

11. माताटीला बाँध परियोजना

  • नदी: बेतवा
  • लाभान्वित जिले: मध्य प्रदेश के 6 उत्तरा प्रदेश के 4 जिले
  • मध्य प्रदेश व उत्तर प्रदेश की संयुक्त परियोजना
  • मध्य प्रदेश में 1.16 लाख हेक्टेयर क्षेत्र व उत्तर प्रदेश में 1.09 लाख हेक्टेयर सिंचाई होगी।

12. पेंच परियोजना

  • नदी: पेंच
  • लाभान्वित जिले: बालाघाट, छिंदवाड़ा
  • यह मध्य प्रदेश व महाराष्ट्र की परियोजना है।
  • इससे 63388 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई होगी ।

13. बाघ परियोजना:

  • नदी: बाघ
  • लाभान्वित जिले: महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश की सीमा क्षेत्र

14. बावनथड़ी

  • नदी: बावनथड़ी
  • लाभान्वित जिले: बालाघाट (मध्य प्रदेश) व भड़ारा (महाराष्ट्र)
  • महाराष्ट्र में 17357 हेक्टेयर में सिंचाई होगी।

15. काली सरार

  • नदी: बाघ
  • लाभान्वित जिले: मध्यप्रदेश , महाराष्ट्र
  • बाघ की पूरक परियोजना है।

16. केन बहुउद्देशीय

  • नदी: केन
  • लाभान्वित जिले: छतरपुर, पन्ना
  • मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश की परियोजना है।

17. अपर नर्मदा

  • नदी: बावनथड़ी
  • लाभान्वित जिले: डिंडोरी

18. लोअर गोई

  • नदी: गोई
  • लाभान्वित जिले: बड़वानी

19. हालोन

  • नदी: हालोन
  • लाभान्वित जिले: मंडला

20. पुनासा

  • नदी: इंदिरा सागर से
  • लाभान्वित जिले: खंडवा

21. उर्मिल परियोजना

  • नदी: उर्मिल
  • लाभान्वित जिले: छतरपुर
  • मध्य प्रदेश – उत्तर प्रदेश में 60:40 अनुपात में बंटवारा

22. सिंहपुर बैराज

  • नदी: उर्मिल
  • लाभान्वित जिले: छतरपुर

23. बारना

  • नदी: बारना (बाड़ी गाँव बाँध)
  • लाभान्वित जिले: रायसेन-सीहोर
  • सिंचाई: 60290 हेक्टेयर में

24. भांडेर नहर

  • नदी: बेतवा
  • लाभान्वित जिले: दतिया, ग्वालियर, भिंड
  • सिंचाई क्षमता: 44535 हेक्टेयर

25. अपर वेनगंगा

  • नदी: वेनगंगा (संजय सरोवर)
  • लाभान्वित जिले: बालाघाट, सिवनी
  • सिंचाई क्षमता: 103722 हेक्टेयर

26. थॉवर परियोजना

  • नदी: थॉवर
  • लाभान्वित जिले: मंडला
  • सिंचाई क्षमता: 18212 हेक्टेयर

27. कोलार परियोजना

  • नदी: कोलार उर्मिल बाँध
  • लाभान्वित जिले: सीहोर
  • सिंचाई क्षमता: 60887 हेक्टेयर

28. माही परियोजना

  • नदी: माही नदी उद्गम धार
  • लाभान्वित जिले: धार, झाबुआ
  • सिंचाई क्षमता: 18517 हेक्टेयर

29. सुक्ता परियोजना

  • नदी: सुक्ता
  • लाभान्वित जिले: खंडवा
  • सिंचाई क्षमता: 18583 हेक्टेयर

30. सिंध परियोजना

  • नदी: सिंध
  • लाभान्वित जिले: शिवपुरी, ग्वालियर
  • सिंचाई क्षमता: 35200 हेक्टेयर

31. रनगवां परियोजना

  • नदी: केन की सहायक नदी
  • लाभान्वित जिले: छतरपुर
  • सिंचाई क्षमता: 16190 हेक्टेयर

32. चोरल नदी परियोजना

  • नदी: चोरल
  • लाभान्वित जिले: महू, इंदौर, खरगौन
  • सिंचाई क्षमता: 9000 हेक्टेयर