Categories: Madhya Pradesh

मध्य प्रदेश की जलवायु – Climate of Madhya Pradesh

Climate of Madhya Pradesh – मध्य प्रदेश की जलवायु

Climate of Madhya Pradesh – पूरे देश की तरह मध्य प्रदेश की जलवायु भी पूर्णतः मौसमी अर्थात मानसूनी है।

स्वरुप: उष्णकटिबंधीय शुष्क जलवायु

तापमान: औसत 42 डिग्री सेंटीग्रेट (ग्रीष्म ऋतु), 14 डिग्री सेंटीग्रेट (शीत ऋतु)

मध्य प्रदेश में तीन ऋतुएं होती हैं –

  1. शीत ऋतु
  2. ग्रीष्म ऋतु
  3. वर्षा ऋतु

1. शीत ऋतु:

  • राज्य में नवम्बर से फरवरी तक शीत ऋतु रहती है।
  • इस ऋतु में सूर्य की स्थिति भूमध्य रेखा के दक्षिण में होती है।
  • अतः मानसूनी हवाएं उत्तर पूर्व से लौटने लगती हैं। जिससे मध्य प्रदेश का तापमान कम होने लगता है।
  • इस ऋतु में मध्य प्रदेश का औसत तापमान 20.9 डिग्री सेंटीग्रेट से 26.6 डिग्री सेंटीग्रेट के बीच रहता है।
  • इस ऋतु को ‘स्याला’ भी कहते हैं।
  • शीत ऋतु में मध्य प्रदेश के उत्तरी भागों में तापमान 15 डिग्री सेंटीग्रेट से 18 डिग्री सेंटीग्रेट के बीच रहता है,
  • जबकि दक्षिण भागों में 18 डिग्री सेंटीग्रेट से 21 डिग्री सेंटीग्रेट के मध्य रहता है।
  • इस ऋतु में कुछ वर्षा भी होती है। इसे लोग “मावठ” भी कहते हैं ।

2. ग्रीष्म ऋतु:

  • इस ऋतु में तापमान मार्च से जून तक लगातार बढ़ता जाता है, जो दक्षिण और दक्षिण-पूर्व से उत्तर तक और उत्तर-पश्चिम की और बढ़ता जाता है।
  • जून माह से राज्य के उत्तर एवं उत्तरी-पश्चिमी भागों में दिन का उच्चतम तापमान 42 डिग्री सेंटीग्रेट से अधिक हो जाता है।
  • इस मौसम में मानसूनी हवाएं समुद्र से थल की ओर चलने लगती हैं।
  • वायुमंडल में नमी कम होती है एवं धुल भरी गर्म हवाएं भी चलती हैं।
  • इस ऋतु को ‘उनाला’ भी कहते हैं।

3. वर्षा ऋतु:

  • राज्य में मध्य जून से सितम्बर तक वर्षा ऋतु होती है।
  • राज्य में मानसूनी वर्षा बंगाल की खाड़ी और अरब सागर दोनों ही शाखाओं से होती हैं।
  • प्रदेश में सर्वाधिक वर्षा जुलाई तथा अगस्त माह में होती है।
  • प्रदेश में वर्षा की मात्रा सभी स्थानों पर सामान नहीं है।
  • पश्चिम की अपेक्षा (औसत 75 सेमी) पूर्वी मध्य प्रदेश में वर्षा अधिक होती है (औसत 125 सेमी)
  • पंचमढ़ी के महादेव पहाड़ी में सर्वाधिक वर्षा (187 सेमी) होती है।
  • सबसे कम वर्षा ग्वालियर में होती है।
  • इस ऋतु को “चौमासा” भी कहते हैं।
  • राज्य में न्यूनतम तापमान वाला स्थान शिवपुरी तथा अधिकतम तापमान वाला स्थान विदिशा है।
  • मध्य प्रदेश में ऋतु सम्बन्धी आंकड़ों को एकत्रित करने वाली ऋतु वेधशाला इंदौर में है।

मध्य प्रदेश की प्रमुख नदी घाटी परियोजनाएं

admin

Recent Posts

एकादशी व्रत 2021 तिथियां – Ekadashi 2021 Date – एकादशी व्रत का महत्व

एकादशी का हिंदू धर्म में एक विशेष महत्व है। हिंदू धर्म में व्रत एवं उपवास को धार्मिक दृष्टि से एक… Read More

51 years ago

मोक्षदा एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा

मोक्षदा एकादशी मार्गशीर्ष महीने के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मोक्षदा एकादशी कहा जाता है। इस एकादशी को वैकुण्ठ एकादशी… Read More

51 years ago

उत्पन्ना एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा

उत्पन्ना एकादशी मार्गशीर्ष मास के शुक्लपक्ष की एकादशी को उत्पन्ना एकादशी कहते हैं। इस एकादशी को मोक्षदा एकादशी भी कहा… Read More

51 years ago

देवउठनी एकादशी या देवुत्थान एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा

देवउठनी एकादशी या देवुत्थान एकादशी कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवउठनी एकादशी या देवुत्थान एकादशी कहा जाता… Read More

51 years ago

रमा एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा

रमा एकादशी कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को रमा एकादशी कहा जाता है। इस व्रत को करने से… Read More

51 years ago

पापांकुशा एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा

पापांकुशा एकादशी आश्विन शुक्ल पक्ष की एकादशी को पापांकुशा एकादशी कहते हैं। जैसा कि नाम से ही पता चलता है… Read More

51 years ago

For any queries mail us at admin@meragk.in