मध्य प्रदेश में परिवहन के साधन | Transport in Madhya Pradesh

madhya pradesh transport

Transport in Madhya Pradeshमध्यप्रदेश में परिवहन के साधनों को तीन भागों में बांटा जा सकता है

  1. सड़क परिवहन
  2. रेल परिवहन
  3. वायु परिवहन

सड़क परिवहन

  • मध्य प्रदेश में यात्री और माल दोनों परिवहन का मुख्य साधन सड़क परिवहन है।
  • मध्य प्रदेश में पक्की सड़को की लम्बाई कच्ची की तुलना में अधिक है।
  • राज्य में सड़क घनत्व 19 किमी (100 वर्ग किमी पर) है। राष्ट्रीय घनत्व 83 किमी (100 वर्ग किमी पर) है।
  • राज्य की जी.डी.पी में सड़क परिवहन क्षेत्र की भागीदारी 1.09% रही।
  • मध्य प्रदेश में सर्वाधिक सड़क लम्बाई ग्रामीण मार्ग के रूप में है।
  • सड़कों की दृष्टि से मध्य प्रदेश का देश में 15वाँ स्थान है।
  • मध्य प्रदेश राज्य परिवहन की स्थापना 1962 में की गयी थी।
  • राज्य से कुल 20 राष्ट्रीय राजमार्ग गुजरते हैं।
  • श्योपुर में सड़कों का घनत्व मात्र 10.75 किमी है।
  • आगरा-ग्वालियर-इंदौर-मुंबई (एन एच 3) राज्य का सबसे बड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग है।
  • मध्य प्रदेश सड़क परिवहन निगम की स्थापना वर्ष 1962 में की गयी थी।

रेल परिवहन

  • यहां देश के रेलमार्गों की कुल लम्बाई का लगभग 10 प्रतिशत भाग आता है।
  • मध्य प्रदेश में रेल परिवहन की शुरुआत: मध्य प्रदेश में सर्वप्रथम 1865 से 1878 के दौरान रेल मार्ग का निर्माण हुआ जो बम्बई-दिल्ली रेल मार्ग को पूरा करने हेतु निर्मित किया गया था।
  • रेलवे जोन: मध्य प्रदेश में एकमात्र रेलवे जोन जबलपुर में है जो 1998 में स्थापित हुआ। यह पश्चिम मध्य रेलवे के अंतर्गत है।
  • रेलवे जंक्शन: भोपाल, बिना, ग्वालियर, इंदौर, इटारसी, जबलपुर, कटनी, रतलाम, उज्जैन
  • इटारसी सबसे बड़ा जंक्शन है।
  • रेलवे मुख्यालय: प्रदेश में रेल सेवा आयोग का मुख्यालय भोपाल में है। राज्य में भोपाल, रतलाम और उज्जैन क्षेत्रीय रेलवे मुख्यालय हैं।
  • रेल लाइन: मध्य प्रदेश में रेलमार्गों की लम्बाई 6100 किमी है जो देश की रेल लम्बाई का लगभग 10 प्रतिशत है।
  • प्रदेश में पहला रेलमार्ग सन 1865 में इलाहबाद से जबलपुर बनाया गया था ।
  • बीना-कटनी-बिलासपुर रेलमार्ग कोयला परिवहन के लिए प्रसिद्द है।
  • प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जोन पश्चिम-मध्य रेलवे है। इसका मुख्यालय जबलपुर में है।
  • भोपाल एक्सप्रेस ISO-9001 प्रमाण पत्र प्राप्त करने वाली देश की पहली ट्रेन है।
  • हबीबगंज रेलवे स्टेशन (भोपाल) ISO-9001 प्रमाण पत्र प्राप्त करने वाला राज्य का एकमात्र रेलवे स्टेशन है।
  • रेवांचल एक्सप्रेस को ISO-14001 प्रमाण पत्र प्रदान किया गया है।
  • 26 अप्रैल 2013 में टीकमगढ़ जिले को भी रेल से जोड़ दिया गया है।

मध्य प्रदेश के प्रमुख औद्योगिक प्रतिष्ठान

वायु सेवा

  • मध्य प्रदेश के पांच नगरों में इंडियन एयर लाइन्स एवं वायुदूत की नियमित सेवाओं से जुड़े हवाई अड्डे हैं।
    • इंदौर,
    • भोपाल,
    • ग्वालियर,
    • जबलपुर,
    • खुजराहों
  • अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा: वर्तमान में सिर्फ खुजराहो और भोपाल से अंतर्राष्ट्रीय उड़ाने हैं।
  • 13 अप्रैल 2012 को इंदौर अंतर्राष्ट्रीय हवाई (रानी अहिल्याबाई हवाई अड्डा) का उदघाटन।
  • राज्य में कुल 33 हवाई पट्टी है जिनमें से 7 राष्ट्रीय विभाग, 8 लोक निर्माण विभाग, 2 विद्युत मंडल, 8 विभिन्न संस्थान के आधिपत्य में है तथा 1 हवाई पट्टी वायुसेना के आधिपत्य में है।
  • 1981 में छोटे शहरों को परिवहन सेवा हेतु पवन हंस की स्थापना हुई।