Categories: Madhya Pradesh

मध्य प्रदेश की प्रमुख नदियाँ – Rivers of Madhya Pradesh

Rivers of Madhya Pradesh – मध्य प्रदेश की प्रमुख नदियाँ

Rivers of Madhya Pradesh – मध्य प्रदेश को नदियों का मायका भी कहते हैं। यहां भारत की सबसे अधिक नदियाँ बहती है। इनमे नर्मदा, ताप्ती, चम्बल, सोन आदि प्रमुख है।

नर्मदा नदी

  • देश की पांचवी सबसे बड़ी नदी है
  • उद्गम: अमरकंटक (अनूपपुर)
  • समापन: खम्भात की खाड़ी (अरब सागर)
  • टॉलमी ने नर्मदा को नमादोस कहा था।
  • नर्मदा के अन्य नाम: मैकल सुता, सोमोदेवी, रेवा
  • लम्बाई: 1312 किमी
  • सहायक नदी: कुन्दी, शेर, हिरन, दुधी, हथिनी, बंजर, शक्कर

चम्बल नदी

  • महाभारत में वर्णित है की राजा रतिदेव ने इसे उद्गमित किया है।
  • चम्बल नदी को प्राचीन काल में चर्मावती (धर्मावती) नाम से जाना जाता था।
  • उद्गम: महू (इंदौर) जनापाव पहाड़ी (854 मीटर ऊंचाई)
  • समापन: इटावा में यमुना नदी
  • सहायक नदी: क्षिप्रा, कालीसिंध, पार्वती, बनास
  • लम्बाई: 1040 किमी

बेतवा नदी

  • उद्गम: रायसेन के कुमरा ग्राम से
  • समापन: उत्तर में यमुना में मिलती है
  • सहायक नदियाँ: धसान, बीना
  • लम्बाई: 480 किमी
  • बेतवा नदी मध्य प्रदेश की पांचवी सबसे बड़ी नदी है।

सोन नदी

  • उद्गम: अमरकंटक (अनूपपुर)
  • समापन: पटना के निकट गंगा में
  • सहायक नदी: जोहिल्ला, बनास, गोपद, रिहन्द
  • लम्बाई: 780 किमी

क्षिप्रा नदी

  • उद्गम: इंदौर काकरी बरडी पहाड़ी से
  • समापन: उज्जैन, रतलाम, मंदसौर में बहती हुई चम्बल में
  • लम्बाई: 195 किमी
  • क्षिप्रा को मालवा की गंगा कहते हैं।

मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्वत

ताप्ती नदी (सूर्य पुत्री)

  • उद्गम: बैतूल जिले के मुल्ताई से
  • समापन: खम्भात की खाड़ी
  • लम्बाई: 724 किमी
  • सहायक नदियाँ: पूरणा, बाघुड़, गिरना, बोरी, शिवा

तवा नदी

  • उद्गम: पंचमढ़ी महादेव पर्वत
  • समापन: होशंगाबाद नर्मदा नदी में
  • मध्य प्रदेश का सबसे लम्बा बाँध तवा नदी (1322 मीटर होशंगाबाद जिले में) पर है।

काली सिंध

  • उद्गम: देवास के बागली गाँव से
  • समापन: शाजापुर व राजगढ़ में बहती हुई राजस्थान में चम्बल में
  • लम्बाई: 150 किमी

केन

  • कटनी कैमुर्स से पन्ना व बांदा जिला (उत्तर प्रदेश) होती हुई यमुना में समाहित होती है।
  • केन नदी का प्राचीन नाम शुक्तिमती, दिर्णावती था।

बैनगंगा

  • उद्गम: सिवनी (परसवाड़ा पठार)
  • अन्य नाम: बेवा,दिदि
  • महाराष्ट्र की वर्धा नदी से इसका संगम होता है।
  • बैनगंगा दक्षिण मध्य प्रदेश की ओर बहने वाली एकमात्र नदी है।

टोंस नदी

  • उद्गम: सतना जिले के मैहर में कैमूर पहाड़ी से
  • समापन: रीवा से होकर सिरसा (उत्तर प्रदेश) के पास गंगा नदी में
  • सहायक नदी: बीहड़, वेलन
  • टोंस नदी का प्राचीन नाम तमसा था।

कुंवारी नदी

  • उद्गम: शिवपुरी पठारी से
  • समापन: भिंड जिले की लहार तहसील में सिंध नदी में

पार्वती नदी

  • उद्गम: सीहोर जिले से
  • समापन: चाचौड़ा (गुना) से होती हुई चम्बल में
  • इसके किनारे आष्टा, राजगढ़, शाजापुर नगर बसे हैं।

मध्य प्रदेश का इतिहास – Madhya Pradesh History

कुनो नदी

  • उद्गम: शिवपुरी पठार से
  • समापन: चम्बल
  • लम्बाई: 180 किमी

छोटी तवा

  • बैतूल में आवना व सुक्ता नदियों से मिलकर बनी है।
admin

Recent Posts

Blueberry in Hindi – ब्लूबेरी (नीलबदरी) के फायदे, उपयोग और नुकसान

Blueberry in Hindi Blueberry in Hindi - ब्लूबेरी को "नीलबदरी" के नाम से भी जाना जाता है जो कि स्‍वास्‍थ्‍य… Read More

3 hours ago

कौन था वो योद्धा जो महाभारत के युद्ध से बाहर था?

द्वापरयुग में श्री नारायण ने श्री कृष्णा अवतार लिया था दुराचारी कंस के संहार के लिए। कंस के दुराचार इतने… Read More

20 hours ago

पांडवों ने अपने अस्त्र कहाँ छुपाये?

द्वारपरयुग के महाभारत की कहानी तो हम सभी जानते हैं, एक ऐसा युद्ध जिसमें द्वापरयुग के सभी महान योद्धाओं ने… Read More

20 hours ago

शिखंडी: एक रहस्यमयी व्यक्ति, जानिये कौन था शिखंडी?

महाभारत का युद्ध द्वापरयुग में अधर्म पर धर्म की जीत का युद्ध था। महाभारत में ऐसे अनेकों पात्र हैं जिनकी… Read More

21 hours ago

आखिर कैसे गांधारी ने 100 पुत्रों को जन्म दिया?

महाभारत ग्रन्थ में हमने अनेकों किरदारों के बारे में पढ़ा है और उन किरदारों के सन्दर्भ में अनेकों प्रचलित कथाओं… Read More

21 hours ago

Janmashtami 2020 Date, Puja Vidhi – जन्माष्टमी क्यों मनाई जाती है?

Janmashtami (जन्माष्टमी) Janmashtami Date, Puja Vidhi, Muhurat- जन्माष्टमी क्यों मनाई जाती है? भारतवर्ष अपने भिन्न भिन्न प्रकार के त्यौहारों के… Read More

2 days ago

For any queries mail us at admin@meragk.in

Hindi Movies Buy Online 👉👉 https://amzn.to/2WVlFwG