Categories: Madhya Pradesh

मध्य प्रदेश की प्रमुख नदियाँ – Rivers of Madhya Pradesh

Rivers of Madhya Pradesh – मध्य प्रदेश की प्रमुख नदियाँ

Rivers of Madhya Pradesh – मध्य प्रदेश को नदियों का मायका भी कहते हैं। यहां भारत की सबसे अधिक नदियाँ बहती है। इनमे नर्मदा, ताप्ती, चम्बल, सोन आदि प्रमुख है।

नर्मदा नदी

  • देश की पांचवी सबसे बड़ी नदी है
  • उद्गम: अमरकंटक (अनूपपुर)
  • समापन: खम्भात की खाड़ी (अरब सागर)
  • टॉलमी ने नर्मदा को नमादोस कहा था।
  • नर्मदा के अन्य नाम: मैकल सुता, सोमोदेवी, रेवा
  • लम्बाई: 1312 किमी
  • सहायक नदी: कुन्दी, शेर, हिरन, दुधी, हथिनी, बंजर, शक्कर

चम्बल नदी

  • महाभारत में वर्णित है की राजा रतिदेव ने इसे उद्गमित किया है।
  • चम्बल नदी को प्राचीन काल में चर्मावती (धर्मावती) नाम से जाना जाता था।
  • उद्गम: महू (इंदौर) जनापाव पहाड़ी (854 मीटर ऊंचाई)
  • समापन: इटावा में यमुना नदी
  • सहायक नदी: क्षिप्रा, कालीसिंध, पार्वती, बनास
  • लम्बाई: 1040 किमी

बेतवा नदी

  • उद्गम: रायसेन के कुमरा ग्राम से
  • समापन: उत्तर में यमुना में मिलती है
  • सहायक नदियाँ: धसान, बीना
  • लम्बाई: 480 किमी
  • बेतवा नदी मध्य प्रदेश की पांचवी सबसे बड़ी नदी है।

सोन नदी

  • उद्गम: अमरकंटक (अनूपपुर)
  • समापन: पटना के निकट गंगा में
  • सहायक नदी: जोहिल्ला, बनास, गोपद, रिहन्द
  • लम्बाई: 780 किमी

क्षिप्रा नदी

  • उद्गम: इंदौर काकरी बरडी पहाड़ी से
  • समापन: उज्जैन, रतलाम, मंदसौर में बहती हुई चम्बल में
  • लम्बाई: 195 किमी
  • क्षिप्रा को मालवा की गंगा कहते हैं।

मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्वत

ताप्ती नदी (सूर्य पुत्री)

  • उद्गम: बैतूल जिले के मुल्ताई से
  • समापन: खम्भात की खाड़ी
  • लम्बाई: 724 किमी
  • सहायक नदियाँ: पूरणा, बाघुड़, गिरना, बोरी, शिवा

तवा नदी

  • उद्गम: पंचमढ़ी महादेव पर्वत
  • समापन: होशंगाबाद नर्मदा नदी में
  • मध्य प्रदेश का सबसे लम्बा बाँध तवा नदी (1322 मीटर होशंगाबाद जिले में) पर है।

काली सिंध

  • उद्गम: देवास के बागली गाँव से
  • समापन: शाजापुर व राजगढ़ में बहती हुई राजस्थान में चम्बल में
  • लम्बाई: 150 किमी

केन

  • कटनी कैमुर्स से पन्ना व बांदा जिला (उत्तर प्रदेश) होती हुई यमुना में समाहित होती है।
  • केन नदी का प्राचीन नाम शुक्तिमती, दिर्णावती था।

बैनगंगा

  • उद्गम: सिवनी (परसवाड़ा पठार)
  • अन्य नाम: बेवा,दिदि
  • महाराष्ट्र की वर्धा नदी से इसका संगम होता है।
  • बैनगंगा दक्षिण मध्य प्रदेश की ओर बहने वाली एकमात्र नदी है।

टोंस नदी

  • उद्गम: सतना जिले के मैहर में कैमूर पहाड़ी से
  • समापन: रीवा से होकर सिरसा (उत्तर प्रदेश) के पास गंगा नदी में
  • सहायक नदी: बीहड़, वेलन
  • टोंस नदी का प्राचीन नाम तमसा था।

कुंवारी नदी

  • उद्गम: शिवपुरी पठारी से
  • समापन: भिंड जिले की लहार तहसील में सिंध नदी में

पार्वती नदी

  • उद्गम: सीहोर जिले से
  • समापन: चाचौड़ा (गुना) से होती हुई चम्बल में
  • इसके किनारे आष्टा, राजगढ़, शाजापुर नगर बसे हैं।

मध्य प्रदेश का इतिहास – Madhya Pradesh History

कुनो नदी

  • उद्गम: शिवपुरी पठार से
  • समापन: चम्बल
  • लम्बाई: 180 किमी

छोटी तवा

  • बैतूल में आवना व सुक्ता नदियों से मिलकर बनी है।
Subscribe Us
for Latest Updates