Categories: Madhya Pradesh

मध्य प्रदेश के प्रमुख खनिज – Minerals of Madhya Pradesh

Minerals of Madhya Pradesh – मध्य प्रदेश के प्रमुख खनिज

Minerals of Madhya Pradesh – मध्य प्रदेश में लगभग 25 प्रकार के खनिज पाए जाते हैं, जिनमें से कोयला, चूना पत्थर, बॉक्साइट, मैंगनीज, तांबा, डोलोमाइट, डायमंड, फायर क्ले प्रमुख हैं। कुल खनिज उत्पादन में मध्य प्रदेश देश में 5वें स्थान पर है।

तांबा

  • मध्य प्रदेश में यह मुख्यतः बालाघाट के मलाजखंड में पाया जाता है
  • इसका उपयोग बर्तन, विद्युत उपकरण, आभूषण आदि बनाने में किया जाता है
  • मध्य प्रदेश देश के कुल ताम्बा उत्पादन का 22 प्रतिशत उत्पादित करता है

चूना पत्थर

  • यह जबलपुर, सतना, सीधी, ग्वालियर, मुरैना आदि में पाया जाता है
  • राज्य में पाए जाने वाले चूने के पत्थर में चूने की मात्रा 40 से 50% तक होती है

मैगनीज

  • देश के कुल भंडार का 50% मैगनीज मध्यप्रदेश में पाया जाता है
  • इसके सबसे बड़े भण्डार बालाघाट जिले में हैं
  • मध्य प्रदेश में 680 लाख टन मैगनीज का भंडारण है जिसमें से 500 लाख टन बालाघाट व शेष छिंदवाड़ा में हैं
  • मैंगनीज मुख्यतः बालाघाट, छिंदवाड़ा, झाबुआ, जबलपुर, मंडला में मिलता है

बॉक्साइट

  • भण्डार की दृष्टि से भारत में पांचवा स्थान है
  • बाक्साइट मुख्यतः जबलपुर, सतना, बालाघाट, मंडला, शहडोल में मिलता है

ग्रेफाइट

  • यह बैतूल जिले में पाया जाता है
  • ग्रेफाइट का उपयोग पेंट तथा बैटरी तथा पेंसिल बनाने में होता है
  • देश में सर्वाधिक ग्रेफाइट उड़ीसा में होता है !

लोहा

  • मध्यप्रदेश में यह मुख्य रूप से जबलपुर में होता है
  • अन्य क्षेत्र है विदिशा, उज्जैन, शाजापुर, धार, झाबुआ आदि !

फायर क्ले

  • मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले में पाली चौराहा, जबलपुर, शहडोल (बरोदि), पन्ना में मिलता है !

फेल्सपार

  • जबलपुर (लम्हेटाघाट), छिंदवाड़ा एवं शहडोल जिलों में पाया जाता है

मध्य प्रदेश के वन्य जीव अभ्यारण्य – Wildlife Sanctuary of Madhya Pradesh

कोरंडोम

  • कोरंडोम मध्य प्रदेश के सीधी जिले के पिपराव परकोटा में पाया जाता है
  • यह एल्मुनियम का ऑक्साइड है !

अभ्रक

  • अभ्रक उत्पादन में भारत का विश्व में पहला स्थान है
  • मध्यप्रदेश में ग्वालियर, छिंदवाड़ा, झाबुआ में यह अल्प मात्रा में होता है !

संगमरमर

  • यह जबलपुर, बैतूल, सिवनी, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा, ग्वालियर में पाया जाता है।
  • मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले का श्वेत, ग्वालियर का लाल, छिंदवाड़ा सिवनी का हरा, बेतूल का रंगीन संगमरमर प्रसिद्ध है ।

एस्बेस्टस

  • यह मध्य प्रदेश के जिले झाबुआ में पाया जाता है
  • अन्य क्षेत्र है बालाघाट, सिंधी, टीकमगढ़, नरसिंहपुर एवं होशंगाबाद आदि जिलों में भी अल्प मात्रा में पाया जाता है

डोलोमाइट

  • यह मध्य प्रदेश के जिले जबलपुर सीन्धी इंदौर झाबुआ ग्वालियर में पाया जाता है

सीसा

  • यह मुख्य रूप से शीशा, दतिया, झाबुआ, शिवपुरी आदि जिलों में पाया जाता है

सोप स्टोन टालक

  • इसे एसटीएटाईट (सेलखड़ी) के नाम से जाना जाता है
  • यह जबलपुर, भेड़ाघाट तथा नर्मदा की घाटी से प्राप्त होता है

गेरू

  • प्रदेश में गेरू के भंडार सतना, जबलपुर, ग्वालियर, बैतूल, होशंगाबाद, रीवा, शहडोल, उमरिया में पाए जाते हैं

जिप्सम

  • यह मध्य प्रदेश के जिले शहडोल मुरैना एवं सतना में पाया जाता है

हीरा

  • मध्यप्रदेश का हीरा उत्पादन में देश में प्रथम स्थान है
  • मध्य प्रदेश में हीरा पन्ना जिले के मझगवां व हीनोता , सतना तथा छतरपुर जिले के अंगूर आदि में पाया जाता है

रॉक फॉस्फेट

  • झाबुआ में रॉक फॉस्फेट का विशाल भंडार है; अन्य क्षेत्र सागर व छतरपुर हैं
  • इस खनिज का उपयोग सुपर फास्फेट उर्वरक बनाने में होता है
  • खरगोन जिले में उच्च श्रेणी के रॉक फास्फेट का पता चला है

मध्य प्रदेश के प्रमुख राष्ट्रीय उद्यान – National Parks in Madhya Pradesh

मध्य प्रदेश के प्रमुख खनिज (Minerals of Madhya Pradesh) तथा उनके उत्पादक जिले निम्न प्रकार हैं:

खनिज उत्पादक जिले
बेरिल बालाघाट छिंदवाड़ा राजगढ़
सोना सिंधी कटनी शहडोल
टंगस्टन होशंगाबाद (आगर गांव)
फ्लोराइड जबलपुर
यूरेनियम शहडोल
बैराइट धार सिंधी शिवपुरी देवास झाबुआ
कोयला शहडोल सिंगरौली. छिंदवाड़ा. होशंगाबाद .बेतूल
हीरा पन्ना सतना  छतरपुर
मैगनीज बालाघाट .छिंदवाड़ा .जिला खरगोन
चूना पत्थर .जबलपुर. मंदसौर ,सतना .कटनी
स्लेट मंदसौर
पाइराइट टीकमगढ़, देवास. धार. झाबुआ. शिवपुरी ,सिधी .रीवा
डोलोमाइट बालाघाट .नरसिंहपुर ,सिवनी, छिंदवाड़ा ,जबलपुर, मलाजखंड, बालाघाट. होसंगाबाद .सागर .झाबुआ
अभ्रक बालाघाट, छिंदवाड़ा. होशंगाबाद. मंदसौर
ग्रेफाइट बेतूल
सिलीमाइट रीवा .सिंधी ,एस्बेस्टस. झाबुआ
घीया पत्थर भेड़ाघाट. झाबुआ, नरसिंहपुर
सुरमा ऐन्टी मनी जबलपुर
शीशा होशंगाबाद, दतिया ,शिवपुरी झाबुआ, जबलपुर
चीनी मिट्टी खतौली रीवा ,आंतरी .ग्वालियर, जबलपुर .शहडोल
रंगीन ग्रेनाइट बेतूल छिंदवाड़ा. सिवनी
ग्रेनाइट पन्ना ,छतरपुर. सागर ,दतिया
रॉक फॉस्फेट झाबुआ, छतरपुर ,सागर
शवेत ग्रेनाइट जबलपुर ,ग्वालियर
गेरू(फेरिक ऑक्साइड) सतना. पन्ना, ग्वालियर ,जबलपुर
फेल्सपार छिंदवाड़ा, जबलपुर ,शहडोल
संगमरवर  जबलपुर. बेतूल ,सिवनी ,छिंदवाड़ा, ग्वालियर , झाबुआ
कोरनडम  पीपरा परकोटा ,सिंगरौली
ऐनडेलुसाइट चांद नगर
डायस्पोर छतरपुर , टीकमगढ़ .शिवपुरी ,जबलपुर
लोहा ,अयस्क जबलपुर. विदिशा ,मंडला ,बालाघाट
टिन बैतुल
तांबा बालाघाट. कटनी ,सागर ,होशंगाबाद
बाकसाईड अनूपपुर. मंडला .जबलपुर .रीवा .सतना
जिप्सम रीवा .शहडोल
admin

Recent Posts

India Independence Day (2020) (हिंदी में) – अन्य कौन से देश 15 अगस्‍त मनाते हैं?

India Independence Day India Independence Day - भारत का स्‍वतंत्रता दिवस हर वर्ष 15 अगस्‍त को देश भर में बहुत… Read More

1 day ago

रामायण (Ramayan) : महत्वपूर्ण तथ्य, अनसुनी कथाएं, सम्पूर्ण रामायण सार

रामायण (Ramayan) एक संस्कृत महाकाव्य है जिसकी रचना महर्षि वाल्मीकि ने की थी। रामायण के महाकाव्य में 24000 छंद और… Read More

2 days ago

महाभारत काल के 9 लोग जिन्हें आज भी जीवित माना जाता है

हिन्दू धर्म ग्रंथ परम प्रतापी शूरवीरों और महान हस्तियों से सुसज्जित है। कुछ ऋषियों ने अपने तप एवं ज्ञान से… Read More

4 days ago

क्यों श्री कृष्ण ने अभिमन्यु की रक्षा नहीं की?

महाभारत यूं तो भारत के महानतम ग्रंथों में से एक है, साथ ही साथ हमें अधर्म पर धर्म की विजय… Read More

4 days ago

क्यों भीष्म पितामह को अपने जीवन के अंतिम दिन नुकीली शैय्या पर बिताने पड़े?

हमारे हिन्दू धर्म में शुरू से ही कर्म की प्रधानता रही है और इसका सटीक अर्थ हमें महाभारत ग्रन्थ में… Read More

4 days ago

5 ऐसे श्राप जिन्होंने महाभारत काल में अद्भुत भूमिका निभाई

भारत के महान ग्रंथों में से एक है, महाभारत। हिन्दू ग्रंथो में अनेक प्रकार के श्रापों का वर्णन है, और… Read More

4 days ago

For any queries mail us at admin@meragk.in

Hindi Movies Buy Online 👉👉 https://amzn.to/2WVlFwG