Categories: Full Forms

CBSE की फुल फॉर्म क्या है? CBSE Full Form – What is the full form of CBSE?

CBSE Full Form

CBSE Full Form – CBSE की फुल फॉर्म क्या है? What is the full form of CBSE?

CBSE Full Form Central Board of Secondary Education होती हैै।

CBSE Full Form in Hindi

CBSE की हिंदी में फुल फॉर्म “केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड” है।

CBSE एक शिक्षा बोर्ड है, जो भारत सरकार के तहत सार्वजनिक और निजी स्कूलों से सबंधित है। CBSE Board का Official Language हिन्दी तथा English दोनों है। CBSE उन स्कूलों को Affiliation करता है। जो कि Central Government of India द्वारा मान्यता प्राप्त हो।

यह भी देखें 👉👉 NCERT की फुल फॉर्म क्या है? NCERT Full Form in Hindi

CBSE Board की स्थापना कब हुई?

CBSE Board की स्थापना 3 November सन् 1962 में की गयी थी। इसका Head Quarter New Delhi में स्थित है। CBSE के Chairman इस समय श्री विनीत जोश जी है।

CBSE Board का मुख्य उद्देश्य:

इसका मुख्य उद्देश्य हैं –

  • शिक्षा संस्थानों यानि स्कूल, कॉलेज आदि को अधिक प्रभावशाली ढंग से लाभ पहुंचाना
  • विद्यार्थियों की शैक्षिक शक्ति का विकास करना

CBSE Board और ICSE Board में क्या अंतर है?

CBSE और ICSE में सबसे बड़ा अंतर ये है कि CBSE board को Indian government ने certified (recognised) किया हुआ है और ICSE board को नहीं, लेकिन दोनों boards के certificate को पूरी दुनिया में valid माना जाता है।

CBSE और ICSE Board के syllabus और exam pattern की बात की जाए तो CBSE board best है क्योंकि ज्यादातर competitive enterance exams जैसे कि IIT-JEE, AIEEE, AIPMT और यहाँ तक कि UPSC exam भी CBSE syllabus पर based होते हैं। इसलिए जो students CBSE board से study करके इन exam को देगा तो उसे इन exam के format और syllabus को समझने में आसानी होगी। ICSE board का syllabus और exam pattern उन स्टूडेंट्स के लिए अच्छा होता है जो अपनी higher education के लिए विदेश (abroad) जाना चाहते हैं।

CBSE का इतिहास:

भारत में स्थापित होने वाला पहला शिक्षण बोर्ड 1921 में Uttar Pradesh Board of High School and Intermediate Education (UP Board full form) बना, जो Rajasthan, Central India और Gwalior के क्षेत्राधिकार में था। सन 1929 में, भारत सरकार ने “Board of High School and Intermediate Education, Rajputana” नामक एक संयुक्त बोर्ड की स्थापना की। इसमें अजमेर, मेरवाड़ा, मध्य भारत और ग्वालियर शामिल हैं बाद में यह अजमेर, भोपाल और विंध्य प्रदेश में भी लाया गया था। सन् 1952 में, इसे “Central Board Of Secondary Education” (CBSE full form) नाम दिया गया ।

admin

Recent Posts

एकादशी व्रत 2021 तिथियां – Ekadashi 2021 Date – एकादशी व्रत का महत्व

एकादशी का हिंदू धर्म में एक विशेष महत्व है। हिंदू धर्म में व्रत एवं उपवास को धार्मिक दृष्टि से एक… Read More

51 years ago

मोक्षदा एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा

मोक्षदा एकादशी मार्गशीर्ष महीने के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मोक्षदा एकादशी कहा जाता है। इस एकादशी को वैकुण्ठ एकादशी… Read More

51 years ago

उत्पन्ना एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा

उत्पन्ना एकादशी मार्गशीर्ष मास के शुक्लपक्ष की एकादशी को उत्पन्ना एकादशी कहते हैं। इस एकादशी को मोक्षदा एकादशी भी कहा… Read More

51 years ago

देवउठनी एकादशी या देवुत्थान एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा

देवउठनी एकादशी या देवुत्थान एकादशी कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवउठनी एकादशी या देवुत्थान एकादशी कहा जाता… Read More

51 years ago

रमा एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा

रमा एकादशी कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को रमा एकादशी कहा जाता है। इस व्रत को करने से… Read More

51 years ago

पापांकुशा एकादशी पूजा विधि, व्रत कथा

पापांकुशा एकादशी आश्विन शुक्ल पक्ष की एकादशी को पापांकुशा एकादशी कहते हैं। जैसा कि नाम से ही पता चलता है… Read More

51 years ago

For any queries mail us at admin@meragk.in