Bhulekh UP | भूलेख खतौनी, नक्शा यूपी 2021

bhulekh up, bhu-naksha up

भूलेख यूपी (Bhulekh UP) पोर्टल को उत्तर प्रदेश सरकार की राजस्व परिषद् द्वारा शुरू किया गया एक डिजिटल पोर्टल है जहां पर भूमि से सम्बंधित रिकॉर्ड्स या विवरण उपलब्ध रहते हैं। इस प्रकार उत्तर प्रदेश की भूमि के रिकॉर्ड्स को कंप्यूटराइज्ड कर दिया गया है, जिसका फायदा यह है कि आप घर बैठे ही अपनी जमीन से सम्बंधित विवरण प्राप्त कर सकते हैं, जैसे कि भूमि संबंधी और खसरा व खतौनी नकल इत्यादि। डाटा को मैन्युअल नहीं बल्कि डिजिटल रूप से सुरक्षित रखा जाता है।

भूलेख यूपी (Bhulekh UP) पोर्टल को इस प्रकार विकसित किया गया है कि राज्य के भूमि रिकार्ड को कंप्यूटरीकृत और डिजिटलीकृत करके भू-अभिलेखों के प्रतिदिन की गतिविधियों को सुव्यवस्थित और सुरक्षित किया जा सके, जिससे लोग आवश्यकतानुसार कहीं से भी अपनी ज़मीन की जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकें।

Table of Contents Hɪᴅᴇ🙈

भूलेख यूपी डिजिटल पोर्टल की शुरुआत कब हुई?

Bhulekh UP Portal की सुविधा आमजन के लिए 2 मई 2016 से शुरू कर दी गयी। इस ऑनलाइन वेब पोर्टल को लोग आसानी से access कर सकते हैं और जमीन से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी घर बैठे ही प्राप्त कर सकते हैं, जैसे कि आपकी जमीन कहाँ से कहाँ तक है, इसका पूरा विवरण उत्तर प्रदेश खसरा खतौनी में दिया हुआ होता है। आपको मैन्युअल तरीके से यह जानकारी लेने के लिए apply नहीं करना पड़ता है, बल्कि सब कुछ ऑनलाइन ही किया जाता है, बस जरूरत होती है डिवाइस में इंटरनेट की। इसलिए आपको भूमि से सम्बंधित जानकारी काफी जल्दी और आसानी से मिल जाती है।

पोर्टल का नाम:उत्तर प्रदेश भूलेख – खसरा खतौनी (Bhulekh UP)
किसने लांच किया:उत्तर प्रदेश सरकार
लाभार्थी:उत्तर प्रदेश के निवासी
उद्देश्य:भूमि से संबंधित रिकॉर्ड को सुव्यवस्थित और सुरक्षित ढंग से ऑनलाइन उपलब्ध करवाना
भू-अभिलेखों का कंप्यूटरीकरण:2 मई 2016 
श्रेणी:उत्तर प्रदेश सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट:http://upbhulekh.gov.in/
पता:Computer Cell
Board Of Revenue
Lucknow, Uttar Pradesh
हेल्पलाइन नंबर:0522-2217145
ई-मेल आईडी:bhulekh-up@gov.in

भूलेख यूपी को अन्य किन नामों से जाना जाता है?

भूलेख यूपी को अन्य नामों से भी जाना जाता है जैसे कि भूमि अभिलेख ,खेत के कागज़ात ,खेत का नक्शा ,भूमि का ब्यौरा ,खाता इत्यादि। इसलिए आपको इससे सम्बंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो आप http://upbhulekh.gov.in/ वेबसाइट में जाकर अपनी भूमि का विवरण जान सकते हैं।

Bhulekh UP Portal का उद्देश्य क्या है?

भूलेख यूपी पोर्टल का मुख्य उद्देश्य उत्तर प्रदेश के लोगों की भूमि से जुड़ी जानकारियों को कंप्यूटराइज्ड तरीके से संग्रहीत करना और भूमि का विवरण ऑनलाइन माध्यम से उपलब्ध करना है। इस पोर्टल के माध्यम से लोग अपनी जमीन से जुड़ी जानकारी को online access कर सकते हैं। चूंकि इसमें किसी भी प्रकार का manual work नहीं होता है, इसलिए यहां से जानकारी आसानी से और काफी जल्दी प्राप्त हो जाती है। इसमें किसी भी प्रकार की गलती की गुंजाइस नहीं रहती है और पारदर्शिता बने रहती है, जो कि सिस्टम को user friendly बना देता है।

उत्तर प्रदेश भूलेख पोर्टल के लाभ

भूलेख यूपी के आने से राज्य के लोगों को काफी सुविधा मिली है और इसका लाभ वे 2016 से ही लेते आ रहे हैं, जो निम्नलिखित हैं:

  • इस पोर्टल के माध्यम से उत्तर प्रदेश के आमजन अपना खसरा नंबर या जमाबंदी नंबर डालकर अपनी भूमि का नक्शा व ब्योरा प्राप्त कर सकते हैं।
  • भूमि का विवरण कहीं से भी प्राप्त कर सकते हैं, बस आपकी डिवाइस में इंटरनेट की आवश्यकता होती है।
  • भूमि के रिकॉर्ड्स आसानी से और जल्दी प्राप्त हो जाते हैं जिससे समय की बचत होती है।
  • किसी भी प्रकार का manual work नहीं होता है, जिस वजह से देरी नहीं होती है और बार बार पटवारी या तहसील के चक्कर नहीं लगाने पड़ते हैं।

भूलेख यूपी खतौनी (खसरा) ऑनलाइन कैसे देखें?

भूलेख यूपी खतौनी (खसरा) को ऑनलाइन देखने के लिए नीचे दिए गए steps को follow करें:

  • अब “खतौनी (अधिकार अभिलेख) की नकल देखें” पर क्लिक करें।
  • new window open होगी जहां पर Captcha Code को enter करना है।
  • अब submit पर click कर दें।
  • open हुए नए पेज में ज़िला, तहसील, ग्राम चुनें।
  • इसके बाद इच्छित विकल्प को चुनें:- “खसरा/गाटा संख्या द्वारा खोजें”, “खाता संख्या द्वारा खोजें”, “खातेदार के नाम द्वारा खोजें”, “नामांतरण दिनांक से खोजें”
  • कोई भी विकल्प द्वारा सफलतापूर्वक जानकारी भरने के बाद “उद्धरण देखें” पर क्लिक करें।
  • नए पेज में captcha code को डालकर continue पर click कर दें।
  • अब आप अपना खाता विवरण देख सकते हैं।
  • गाटा/खसरा सम्बंधित जानकारी के लिए खसरा संख्या पर क्लिक करें।
  • अब यहां पर आप इच्छित विकल्प का चयन कर विवरण देख सकते हैं।

भूलेख नक्शा यूपी 2021 कैसे देखें?

भूलेख नक्शा यूपी 2021 को आप दो तरीकों से देख सकते हैं:

  1. भूलेख यूपी की ऑफिसियल वेबसाइट के जरिये (http://upbhulekh.gov.in/)
  2. भू-नक्शा यूपी की ऑफिसियल वेबसाइट के जरिये (http://upbhunaksha.gov.in/)

भूलेख यूपी की ऑफिसियल वेबसाइट के जरिये भूलेख नक्शा यूपी देखें

भूलेख यूपी की ऑफिसियल वेबसाइट के जरिये भूलेख नक्शा यूपी 2021 देखने के लिए नीचे दिए गए steps को follow करें:

  • अब “खतौनी (अधिकार अभिलेख) की नकल देखें” पर क्लिक करें।
  • अब captcha code को submit कर दें।
  • इसके बाद ज़िला, तहसील, ग्राम चुनते हुए अपनी जानकारी दर्ज करें।
  • अब “उद्धरण देखें” पर क्लिक कर दें।
  • captcha code को डालकर continue पर click कर दें।
  • अब खसरा संख्या पर क्लिक करें।
  • यहां पर “भूखण्ड/गाटे का भू-नक्शा देखें” का चयन करें।

इस प्रकार आप http://upbhunaksha.gov.in/ वेबसाइट में redirect हो जायेंगे और इससे सम्बंधित भू नक्शा देख सकते हैं।

भू-नक्शा यूपी की ऑफिसियल वेबसाइट के जरिये भूलेख नक्शा यूपी देखें

भू-नक्शा यूपी की ऑफिसियल वेबसाइट के जरिये भूलेख नक्शा यूपी 2021 देखने के लिए नीचे दिए गए steps को follow करें:

  • सबसे पहले भू-नक्शा यूपी की ऑफिसियल वेबसाइट में जाएं 👉👉 http://upbhunaksha.gov.in/
  • अब अपना जिला, तहसील और गाँव का नाम चुनें।
  • अब map में अपने प्लॉट या खेत का खसरा नंबर डालें।
  • इसके बाद submit पर click कर दें।
  • इस प्रकार भूमि से सम्बंधित नक्शा दिख जायेगा, जिसको आप डाउनलोड भी कर सकते हैं।

भूलेख यूपी पोर्टल पर आपको क्या क्या जानकारियां मिल सकती हैं?

  • राजस्व ग्राम खतौनी का कोड जाने
  • भूखण्ड/गाटे का यूनीक कोड जाने
  • भूखण्ड/गाटे के वाद ग्रस्त होने की स्थिति जाने
  • भूखण्ड/गाटे के विक्रय की स्थिति जाने
  • खतौनी (अधिकार अभिलेख) की नक़ल देखें
  • खतौनी अंश-निर्धारण की नक़ल देखें
  • राजस्व ग्राम सार्वजनिक सम्पति
  • निष्क्रांत सम्पति
  • शत्रु सम्पति
  • राजकीय आस्थान

Bhulekh UP Portal पर उपलब्ध ऑनलाइन सेवाएं

  • शिकायत पंजीकरण
  • शिकायत की स्थिति देखें
  • ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल
  • स्टाम्प और रजिस्ट्री
  • राजस्व वाद

भूलेख यूपी पर शिकायत पंजीकरण करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले भूलेख की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा 👉👉 http://upbhulekh.gov.in/
  • अब scroll down करके “शिकायत पंजीकरण” के option को click कर दें।
  • यहां पर सभी जानकारी भरकर submit पर click कर दें।
  • इस प्रकार आपकी शिकायत दर्ज हो जाएगी।

भूलेख यूपी पर शिकायत की स्थिति जानने की प्रक्रिया (Track Complaint Status)

  • आप सबसे पहले भूलेख की ऑफिसियल वेबसाइट पर चले जाइये 👉👉 http://upbhulekh.gov.in/
  • अब “शिकायत की स्थिति जानें?” के ऑप्शन पर क्लिक कर लीजिये।
  • यहां पर शिकायत संख्या और मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी दर्ज करें।
  • इसके बाद captcha code डालकर submit पर click कर दें।

यूपी भूलेख ऑनलाइन जिलेवार सूची (Bhulekh UP District List)

Serial No.District Name (English)District Name (Hindi)
1Agra(146)आगरा(146)
2Aligarh(143)अलीगढ़(143)
3Ambedkarnagar(178)अम्बेदकरनगर(178)
4Amethi(203)अमेठी(203)
5Amroha(137)अमरोहा(137)
6Auraya(162)औरैया(162)
7Ayodhya(177)अयोध्या(177)
8Azamgarh(191)आजमगढ(191)
9Badaun(149)बदांयू(149)
10Bagpat(139)बागपत(139)
11Ballia(193)बलिया(193)
12Balrampur(182)बलरामपुर(182)
13Banda(170)बाँदा(170)
14Barabanki(176)बाराबंकी(176)
15Bareilly(150)बरेली(150)
16Basti(185)बस्ती(185)
17Behraich(180)बहराइच(180)
18Bhadohi(198)भदोही(198)
19Bijnor(134)बिजनौर(134)
20Bulandshahar(142)बुलन्द शहर(142)
21Chandauli(196)चन्दौली(196)
22Chitrakoot(171)चित्रकूट(171)
23Deoria(190)देवरिया(190)
24Etah(201)एटा(201)
25Etawah(161)इटावा(161)
26Farrukhabad(159)फर्रूखाबाद(159)
27Fatehpur(172)फतेहपुर(172)
28Firozabad(147)फिरोजाबाद(147)
29Gbnagar(141)गौतम बुद्ध नगर(141)
30Ghaziabad(140)गाजियाबाद(140)
31Ghazipur(195)गाजीपुर(195)
32Gonda(183)गोंडा(183)
33Gorakhpur(188)गोरखपुर(188)
34Hamirpur(168)हमीरपुर(168)
35Hapur(204)हापुड़(204)
36Hardoi(155)हरदोई(155)
37Hathras(144)हाथरस(144)
38Jalaun(165)जालौन(165)
39Jaunpur(194)जौनपुर(194)
40Jhansi(166)झांसी(166)
41Kannauj(160)कन्नौज(160)
42Kanpurdehat(163)कानपुर देहात(163)
43Kanpurnagar(164)कानपुर नगर(164)
44Kasganj(202)कासगंज(202)
45Kaushambhi(174)कौशाम्बी(174)
46Kheri(153)खीरी(153)
47Kushinagar(189)कुशीनगर(189)
48Lalitpur(167)ललितपुर(167)
49Lucknow(157)लखनऊ(157)
50Maharajganj(187)महाराजगंज(187)
51Mahoba(169)महोबा(169)
52Mainpuri(148)मैनपुरी(148)
53Mathura(145)मथुरा(145)
54Mau(192)मऊ(192)
55Meerut(138)मेरठ(138)
56Mirzapur(199)मिर्जापुर(199)
57Moradabad(135)मुरादाबाद(135)
58Muzaffarnagar(133)मुजफफर नगर(133)
59Pilibhit(151)पीलीभीत(151)
60Pratapgarh(173)प्रतापगढ(173)
61Prayagraj(175)प्रयागराज(175)
62Raebareli(158)रायबरेली(158)
63Rampur(136)रामपुर(136)
64Saharanpur(132)सहारनपुर(132)
65Sambhal(205)सम्भल(205)
66Santkabirnagar(186)सन्तकबीर नगर(186)
67Shahjahanpur(152)शाहजहांपुर(152)
68Shamli(206)शामली(206)
69Shravasti(181)श्रावस्ती(181)
70Sidharthnagar(184)सिद्धार्थनगर(184)
71Sitapur(154)सीतापुर(154)
72Sonbhadra(200)सोनभद्र(200)
73Sultanpur(179)सुल्तानपुर(179)
74Unnao(156)उन्नाव(156)
75Varanasi(197)वाराणसी(197)

उत्तर प्रदेश में भूमि के प्रकार की सूची

क्रम स.भूमि प्रकारभूमि प्रकार का विवरणभूमि प्रकार का कोड(गाटा यूनिक कोड का 15-16 अंक)
11ऐसी भूमि, जिसमें सरकार अथवा गाँवसभा या अन्य स्थानीय अधिकारिकी जिसे1950 ई. के उ. प्र. ज. वि.एवं भू. व्य. अधि.की धारा 117 – क के अधीन भूमि का प्रबन्ध सौंपा गया हो , खेती करता हो ।11
21-कभूमि जो संक्रमणीय भूमिधरों केअधिकार में हो।12
31क(क)रिक्त13
41-खऐसी भूमि जो गवर्नमेंट ग्रांट एक्ट केअन्तर्गत व्यक्तियों के पास हो ।14
52भूमि जो असंक्रमणीय भूमिधरो केअधिकार में हो।21
63भूमि जो असामियों के अध्यासन या अधिकारमें हो।31
74भूमि जो उस दशा में बिना आगम केअध्यासीनों के अधिकार में हो जब खसरेके स्तम्भ 4 में पहले से ही किसी व्यक्तिका नाम अभिलिखित न हो।41
84-कउ.प्र. अधिकतम जोत सीमा आरोपण.अधि.अन्तर्गत अर्जित की गई अतिरिक्त भूमि -(क)जो उ.प्र.जोत सी.आ.अ.के उपबन्धो केअधीन किसी अन्तरिम अवधि के लिये किसी पट्टेदार द्वारा रखी गयी हो ।42
94-क(ख)अन्य भूमि ।43
105-1कृषि योग्य भूमि – नई परती (परतीजदीद)51
115-2कृषि योग्य भूमि – पुरानी परती (परतीकदीम)52
125-3-ककृषि योग्य बंजर – इमारती लकड़ी केवन।53
135-3-खकृषि योग्य बंजर – ऐसे वन जिसमें अन्यप्रकर के वृक्ष,झाडि़यों के झुन्ड,झाडि़याँ इत्यादि हों।54
145-3-गकृषि योग्य बंजर – स्थाई पशुचर भूमि तथा अन्य चराई की भूमियाँ ।55
155-3-घकृषि योग्य बंजर – छप्पर छाने की घास तथा बाँस की कोठियाँ ।56
165-3-ङअन्य कृषि योग्य बंजर भूमि।57
175-क (क)वन भूमि जिस पर अनु.जन. व अन्य परम्परागत वन निवासी (वनाधिकारों की मान्यत्ाा) अधि. – 2006 के अन्तर्गत वनाधिकार दिये गये हों – कृषि हेतु58
185-क (ख)वन भूमि जिस पर अनु.जन. व अन्य परम्परागत वन निवासी (वनाधिकारों की मान्यत्ाा) अधि. – 2006 के अन्तर्गत वनाधिकार दिये गये हों – आबादी हेतु59
195-क (ग)वन भूमि जिस पर अनु.जन. व अन्य परम्परागत वन निवासी (वनाधिकारों की मान्यत्ाा) अधि. – 2006 के अन्तर्गत वनाधिकार दिये गये हों – सामुदायिक वनाधिकार हेतु60
206-1अकृषिक भूमि – जलमग्न भूमि ।61
216-2अकृषिक भूमि – स्थल, सड़कें, रेलवे,भवन और ऐसी दूसरी भूमियां जोअकृषित उपयोगों के काम में लायी जाती हो।62
226-3कब्रिस्तान और श्मशान (मरघट) , ऐसेकब्रस्तानों और श्मशानों को छोड़ करजो खातेदारों की भूमि या आबादी क्षेत्र में स्थित हो।63
236-4जो अन्य कारणों से अकृषित हो ।64
247भूमि जो असामियों के अघ्यासन या अधिकारमें हो।71
259भूमि के ऐसे अध्यासीन जिन्होने खसरे के स्तम्भ 4 में उल्लिखित व्यकि्त की सम्मतिके बिना भूमि पर अधिकार कर लिया हो।91

यह भी देखें 👉👉 प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना क्या है?

यह भी देखें 👉👉 बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना क्या है?